भगवंत मान सिंह का जीवन परिचय | Bhagwant Man Singh Biography in Hindi

भगवंत मान सिंह का जीवन परिचय |  Bhagwant Man Singh Biography in Hindi

In : Viral Stories By storytimes About :-11 months ago
+

Biography of Bhagwant Man Singh: भगवंत मान 2014 से लोकसभा के अध्यक्ष है। भगवंत मान का जन्म 17 अक्टूब 1973 में हुआ था। भगवंत का जन्म स्थान सतोज, संगरूर, पंजाब है। भगवंत मन का सम्बन्ध आम आदमी पार्टी से है।  भगवंत मान अपने प्रोफेशन से एक सोशल वर्कर, गायक कलाकार, एक्टर एवं राजनीतिज्ञ है। जैसा की अभी अपने देखा होगा पंजाब में विधानसभा के चुनाव हो चुके है , और इस चुनाव के परिणाम 10 मार्च 2022 को घोषित किये गए है। इन्ही परिणामो के मुताबिक भगवंत मान ने कांग्रेस को पछाड़ते हुए AAP पार्टी के सदस्य के रूप में खुद को विजयी किया है। आप के सीएम उम्मीदवार भगवंत मान को आमतौर पर विभिन्न शो में उनके कॉमेडी एक्ट के लिए जाना जाता है, लेकिन अब वह पंजाब के सीएम बनने जा रहे हैं, इसलिए हर कोई उनके बारे में अधिक जानना चाहता है। भगवंत सिंह मान एक राजनेता और पंजाब से सांसद हैं। उनका जन्म 17 अक्टूबर 1973 को पंजाब के सतोज में हुआ था। वह 2014 में आप में शामिल हुए। अगर आप भगवंत मान के बारे में और भी कुछ जानना चाहते है तो हमारे द्वारा नीचे दिया गया लेख पढ़े।

भगवंत मान सिंह का प्रोफेशन

Source

भगवंत मन सिंह प्रोफेशन से एक सोशल वर्कर, एक्टर एवं राजनीतिज्ञ है। इसके अलावा भगवंत सिंह एक बालीबॉल खिलाडी है और इन्होने बहुत सारे टूर्नामेंट्स में भाग लिया है।  इसी के साथ साथ भगवंत मन ने हास्य समारोह एवं अंतर् महाविद्यालय प्रयोगिताओ में भी  भाग लिया। भगवंत मन ने पटियाला जो की पंजाब में स्थित है वहा के एक विश्वविद्यालय में उन्होंने एक प्रतियोगिता में भाग लिया था जिसमे उन्होंने शहीद उधम सिंह गवर्नमेंट कॉलेज, सुनाम के लिए एक प्रतियोगिता में दो स्वर्ण पदक जीते। इन्होने कई कॉमेडी शो भी किये ज्यादातर भगवंत मन के कॉमेडी शो जग्गी के साथ है।  उन्होंने एक साथ एक टीवी कार्यक्रम भी बनाया, जिसे अल्फा ईटीसी पंजाबी के लिए जुगनू कहना है के नाम से जाना जाता है। दस साल बाद वे अलग हो गए। इस शो के बाद में भगवंत मान ने राणा रणबीर सिंह के साथ में काम करना सही समझा।  रणबीर राणा एवं भगवंत मान ने मिलकर एक शो किया जो "जुंगनू मस्त मस्त" के नाम से जाना जाता है, एवं इस प्रोग्राम को अल्फा ईटीसी पंजाबी के लिए बनाया गया था।   

मान और जग्गी फिर से मिले और 2006 में अपने जूते "नो लाइफ विद वाइफ" के साथ कनाडा और इंग्लैंड का दौरा किया। उन्होंने 2008 में स्टार प्लस पर ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज में भी भाग लिया और अधिक लोकप्रियता हासिल की, और उनके दर्शक भी बढ़े। वह 1992 में क्रिएटिव म्यूजिक कंपनी से जुड़े और कई शो करने लगे। वह 2013 तक डिस्कोग्राफी के क्षेत्र में भी सक्रिय थे। उन्होंने 1994 में फिल्म कचेहरी से अपनी शुरुआत की। 2018 तक, वह 12 से अधिक फिल्मों में दिखाई दिए।

भगवंत मान सिंह का परिवार

Source:

भगवंत मान सिंह के पिता का नाम श्री मोहिंदर सिंह एवं माता का नाम श्रीमती हरपाल कौर है।  इनकी पत्नी का नाम श्रीमती इंद्रप्रीत कौर है।  जिससे भगवंत मान ने 2015 ने तलाक लिया था।  भगवंत मान सिंह के 1 लड़का एवं 1 लड़की है जो की विदेश में रहते है और वहीं इन्होंने नागरिकता भी ले ली है। भगवंत मान सिंह ने एक इंटरव्यू में बताया की उनके बच्चे उनसे अब फोन पर भी बात नहीं करते है।  अपने परिवार को समय नहीं देने के कारण उनका परिवार उनसे दूर हो गया।

भगवंत मन का राजनीती करियर

Source:

भगवंत मान ने 2011 में पीपुल्स पार्टी में शामिल हो गए।  2012 में भगवंत मान ने लेहरा निर्वाचन क्षेत्र से विधानसभा चुनाव लड़ा।  और इस चुनाव में भगवंत मान विजयी रहे। 2014 में भगवंत मान आम आदमी पार्टी में शामिल हुए जिसमे उनका लक्ष्य लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का था।  । उन्होंने अपना पहला लोकसभा चुनाव पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींडसा के खिलाफ जीता था। उन्होंने 2017 में सुखबीर सिंह बादल और रवनीत सिंह बिट्टू के खिलाफ जलालाबाद में विधानसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन वह बादल से चुनाव हार गए।

सांसद के रूप में भगवंत मान सिंह

Source

एक सांसद के रूप में भगवत मान सिंह का पहला कार्यकाल 2014 से 2019 तक था। भगवंत मन सिंह का दूसरा कार्यकाल 2019 से आज तक का है।  उन्हें मई 2019 में संगरूर लोकसभा क्षेत्र से 17वीं लोकसभा के लिए फिर से चुना गया। उन्होंने संसद में अपना दूसरा कार्यकाल जीता। उन्होंने केवल सिंह ढिल्लों (कांग्रेस) और परमिंदर सिंह ढींडसा (शिरोमणि अकाली दल) के खिलाफ जीत हासिल की। 2022 में भगवंत मान को पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में देखने के लिए आम आदमी पार्टी से चुना गया जिसमे इन्होने जीत हासिल की। 

पंजाब के मुक्यमंत्री के रूप में भगवंत मान

Source

श्री केजरीवाल ने कहा कि "श्री मान का पार्टी के सीएम उम्मीदवार के रूप में चयन एक फोन कॉल के माध्यम से" जनता की राय "पर टिका था।

श्री मान ने 10 मार्च, 2022 को धुरी विधानसभा से 2022 पंजाब विधान सभा चुनाव 58,206 मतों के भारी अंतर से जीता। 2022 के पंजाब विधानसभा चुनाव में AAP ने 117 में से 92 सीटें जीतीं और बलवंत मान पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। श्री मान ने घोषणा की कि वह खटकर कलां में पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे, जो स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह का पैतृक गांव है। 

भगवंत मान के द्वारा किये गए कुछ चैरिटेबल कार्य

Source

भगवंत मान अपने चैरिटेबल कार्य कार्यो की वजह से भी चर्चा में रहे है।  इन्होने पंजाब के सीमावर्ती इलाको में भूजल के प्रदूषण से कारण शाररिक समस्या झेल रहे बच्चो के लिए गैर सरकारी संघठन शुरू किया जिसका नाम है , "लोक लहर फाउंडेशन"।    

भगवंत मन से जुड़े कुछ विवाद 

Source

भगवंत मान से जुड़े कुछ ऐसे विवाद है जिनकी वजह से इन्हे कई बार आलोचनाओं के सामना करना पड़ा था।  जब भगवंत मान ने 2015 में अपनी पत्नी को तलाक दिया तो उन्होंने मिडिया के सामने ये बयान दिया था की उन्हें जनता की अखंड सेवा करनी है जिसकी वजह से वो अपनी पत्नी को तलाक दे रहे है और इस वजह से उन्हें कई आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।  उसके बाद भगवंत मान ने दिल्ली की कांग्रेस सरकार पर बयान दिया की दिल्ली में विकास की बात करने वाली कांग्रेस के विधायक से ज्यादा लालू यादव के बच्चे है, जिससे दिल्ली की कांग्रेस सर्कार ने उन पर कई आलोचनाएं की।  इसके बाद 2015 में ही भगवंत मान ने एक शहीद समारोह में शराब पीकर जाने की हरकत की जिसकी वजह से उन्हें स्टेज से उतर दिया  गया था। ये ही नहीं 2016 में भगवंत मान पर सांसद की सुरक्षा के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया गया था जिसके वजह से इन्हे कई बार आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। 

भगवंत मान सिंह का जीवन परिचय | Bhagwant Man Singh Biography in Hindi