×

राजस्थान की बेटी पायल जांगिड़ को न्यूयॉर्क में मिला चेंजमेकर अवार्ड | Changemaker Award Payal jangid

राजस्थान की बेटी पायल जांगिड़ को न्यूयॉर्क में मिला चेंजमेकर अवार्ड | Changemaker Award Payal jangid

In : Meri kalam se By storytimes About :-4 months ago
+

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकातो के बाद बुधवार की सुबह होते ही भारत के लिए एक और सम्मान और गर्व करने वाली बात सामने आया। वो सम्मान था भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को देश में लागू किए गए "स्वच्छ भारत अभियान" के चलते ग्लोबल गोलकिपर अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया । प्रधानमत्री नरेद्र मोदी को यह पुरस्कार मंगलवार के दिन दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति बिल गेट्स की फाउंडेशन बिल एंड गेट्स की और से दिया गया । प्रधानमंत्री की इस उपलब्धि के बाद भारत देश का सिर एक बार फिर गर्व से ऊंचा हो गया है। लेकिन क्या दोस्तो आपको पता है की प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के सम्मान के अलावा एक भारतीय और था जिन्हें चेंजमेकर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। तो चलिए दोस्तो जानते है उस भारतीय के बारे में जिन्हें “चेंजमेकर अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया।

राजस्थान की रहने वाली है पायल जांगिड़ | Changemaker Award Win Payal Jangid

Changemaker Award Payal jangidSource images.indianexpress.com

दोस्तो चेंजमेकर सम्मान से सम्मानित होने वाला वो दुसरा भारतीय नागरीक है पायल जांगिड़। भारत देश की इस बेटी पायल जांगिड़ को यह पुरस्कार उनके द्वारा चलाए गए बाल श्रम व बाल विवाह के खिलाफ अभियान के तहत दिया गया था। पायल जांगिड़ ने महज 17 साल की उम्र मे यह सामाजिक हित का कार्य किया। पायल जांगिड़ को बिल एंड मिलेंडा गेट्स फाउंडेशन ने यह अवॉर्ड देकर उन्हें सम्मानित किया । इस पुरस्कार के बारे में गेट्स फाउंडेशन ने ट्वीट कर बताया की पायल जांगिड को गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स अवॉर्ड्स में चेंजमेकर का अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया है पायल जांगिड़ को मिला यह सम्मान उन्हें अपने अभियान बाल श्रम व बाल विवाह जैसी समाज की कुरीतियों को खत्म करने का अधिकार प्रदान करता है।

पायल पर बनाया बाल विवाह का दबाब | Changemaker Award Win 2019

Changemaker Award Payal jangidSource dg2xa75eep0la.cloudfront.net

पायल जांगिड़ राजस्थान राज्य के हिंसला गांव की रहने वाली है। बचपन की खिलखिलाहट व समझ को पुरी तरह समझने से पहले ही उनके परिवार ने उन पर उनकी शादी करने का दबाब बनाना शुरु कर दिया। लेकिन पायल ने परिवार के दबाब में न आते हुए इसे अस्वीकार दिया और स्कूल जाकर पढ़ लिख कर कुछ करने की ठानी। बाल विवाह की इस सोच को खत्म करने का फैसला पायल ने खुद तक ही सीमित नही रखा। पायल ने गांव में आयोजित होने वाले बाल मित्र में गठित होने वाली “ बाल परिषद” में पायल ने पंचायत की प्रमुख बनते हुए इस विषय पर काम किया। पायल जांगिड़ का यह अभियान नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी के द्वारा चलाए गए अभियान “ बचपन बचाओ आंदोलन“ के सम्मान ही है।

कैलाश सत्यार्थी ने दी बधाई | Changemaker Award in New york

Changemaker Award Payal jangidimage source

दुनिया भर में बच्चों के हित की लड़ाई लड़ने वाले कैलाश सत्यार्थी ने भी पायल जांगिड़ की इस उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई दी और अपने एक लेख में कैलाश सत्यार्थी ने पायल के प्रयासो की सराहना करते हुए लिखा की “ आज पायल देश में बाल विवाह, बाल श्रम, व समाज में घूंघट की प्रथा को खत्म करने में सबसे आगे रही है। पायल को मिले इस सम्मान के बाद कैलाश सत्यार्थी ने पायल जांगिड़ के साथ अपनी कुछ तस्वीरें ट्विटर अकाउंट पर शेयर की। केलाश सत्यार्थी उस दौरान उसी इंवेट में शामिल थे।

आज गांव है पुरी तरह बाल विवाह व बाल श्रम से मुक्त | Payal Jangid Win Changemaker Award 2019

Changemaker Award Payal jangidSource im.indiatimes.in

पायल को उपलल्बि की बधाई देने के साथ कैलाश सत्यार्थी ने लिखा की “ आज मुझे और सुमेधा जी को इस बात गर्व है की हमारी बेटी को न्यूयॉर्क शहर में आयोजित किए गए “ बिल एंड मिलेंडा गेट्स फाउंडेशन की और से चेंजमेकर का अवॉर्ड दिया गया। बचपन में परिवार के द्वारा शादी का दबाब बनाने के बावजूद उन्होंने इसे स्वीकार नही किया और एक बदलाव की राह पर चल पड़ी आज पायल ने पुरे गांव को बाल विवाह व बाल श्रम से मुक्त कर दिया है।

इस तरह काम करती है पायल

Changemaker Award Payal jangidSource i.ytimg.com

पायल ने अपने इस सफर के बारे में बताया की उन्होंने बच्चों के अधिकार के लिए और शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था “ द वल्डर्स चिल्ड्रन प्राइज” में एक जूरी सदस्य के रुप में शामिल हो कर कार्य किया। पायल ने आगे बताया की “ हम स्कूल में आने वाले बच्चो के साथ उनके पर जा कर उनके माता-पिता से मिलते थे उन्हें समझाते की शिक्षा का ज्ञान होना जीवन में कितना जरुरी है। स्कूल आना क्यो जरुरी है। मै उन सभी परिवार के पिता से एक बात कहना चाहुगी की जीवन में कभी भी पत्नी व बेटी के साथ मारपीट न करें। यदि आप उनके साथ प्यार से पेश होंगे तो तब परिवार में सब चीजें समय के साथ बदल जाएगी।

ग्लोबल स्थर तक चले यह अभियान

न्यूर्याक में बिल मिलेडा गेट्स फाउंडेशन से चेंजमेकर अवॉर्ड से सम्मानित होने के बाद देश की बेटी पायल जांगिड़ ने कहा की “ आज इस अवॉर्ड को पाकर मुझे बहुत खुशी हो रही है। मेरी इच्छा है की जिस तरह मेने इस अभियान की शुरुआत कर इन कुरुतियों को समाप्त किया यह अभियान वेव्क्षिक स्तर पर चलाऊं। पायल ने देश के प्रधानमंत्री को भी गोलकीपर्स अवॉर्ड पाने की बधाई दी।

Read More - 107 साल की उम्र में 8000 पेड़ लगाने वाली वृक्ष माता को मिला “पद्मश्री