×

चलो कुम्भ चलो: 'यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा'

चलो कुम्भ चलो: 'यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा'

In : News By storytimes About :-2 years ago
+

चलो कुम्भ चलो: 'यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा'

अवस्थी ने कहा कि इसे जल्द ही अमल में लाया जाएगा. ऐसा इसलिये किया जाएगा ताकि लोग इस धार्मिक आयोजन के उद्देश्य और महत्व को जान सकें. उन्होंने बताया कि नए लोगो में स्वास्तिक चिन्ह बना हुआ है और साधुओं का एक समूह पवित्र संगम में स्नान करता हुआ दिख रहा है.

source

उन्होंने कहा कि यह निर्णय सभी सरकारी पत्रों में कुम्भ का लोगो छापे जाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद किया गया है. कुम्भ मेले को हाल में यूनेस्को की विश्व धरोहरों की फेहरिस्त में शामिल किया गया था.कुंभ मेला जनवरी 2019 में आयोजित किया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस विशाल धार्मिक कार्यक्रम की पुख्ता तैयारियां करने के आदेश पहले ही जारी कर दिए हैं.

CM योगी ने जारी किया था LOGO

दिसंबर के पहले पखवाड़े में मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने कुंभ मेले का LOGO जारी किया. भगवा गोले में कई प्रतीक चिन्हों को समेटे कुंभ का ये LOGO मेले के आयोजन के 1 साल से ज्यादा पहले ही जारी किया गया है.

योगी सरकार अगले एक साल में कुंभ मेले के LOGO को देश और दुनिया में लोकप्रिय बना देना चाहती है, ताकि एक LOGO से ही कुंभ की पहचान हो जाए. यह लोगो सरकार की तमाम प्रचार सामग्रियों का हिस्सा है.

बता दें 2019 जनवरी में योगी सरकार प्रयाग यानी इलाहाबाद में लगने वाले मेले को बड़े आयोजन के तौर पर मनाने की तैयारी कर रही है. 11 दिसंबर को लखनऊ स्थित राज भवन में हुए कार्यक्रम पहली बार कुंभ के लिए LOGO और शुभंकर जारी किया गया है.  

क्या है कुंभ के लोगो मेंभगवा गोले के बीच में बनाया गया LOGO कुंभ में सरकार के प्रतीक के तौर पर होगा. इस LOGO में भगवा गोले के भीतर || सर्व सिद्धि प्रद:कुंभ:|| श्लोक लिखा गया है. इसके अलावा कई प्रतीक चिन्ह बनाए गए हैं, जिसमें स्नान करते साधु, मंदिरों की श्रृंखला, गंगा नदी की तस्वीर, कलश पर नारियल भी बना हैं