×

कुछ अलग करने की चाह में यह शख्स 40 साल से खा रहा है रोज 5 Kg कांच | Dayaram Sahu Eat Glass In Hindi

कुछ अलग करने की चाह में यह शख्स 40 साल से खा रहा है रोज 5 Kg कांच | Dayaram Sahu Eat Glass In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-1 month ago
+

दोस्तो अब तक आपने ऐसे अजीब लोगो के बारे में जरूर सुना होगा जो व्यक्ति लोहा चबा जाते है आग के अंदर से निकल जाते है। लेकिन दोस्तो क्या आपने कभी ऐसे इंसान के बारे में सुना है जो केवल कांच खाता हो यदि आप इस जानकारी से अभी भी अवगत नही है तो सुनिए। वो शख्स है मध्य प्रदेश राज्य के डिंडोरा जिले का रहने वाले दयाराम साहू। दोस्तो दयाराम साहू पिछले करीब 40 साल से कांच से बनी चीजों को खाता आ रहा है। दयाराम कांच को इस तरह खाते है जैसे कोई मटर पनीर की सब्जी खा रहे है।

अब दोस्तो दयाराम की इस कांच को खाने की आदत , सब को हैरान कर रही है की आखिर यह कांच जैसी खतरनाक चीज को कैसे मिनटो में चबा जाते है। दयाराम साहू पेशे से एक वकिल है और जब उनसे इस बारे में पूछा  गया की आप कांच क्यो खाते हो? तो दयाराम साहू का जवाब कुछ यूँ था।

Dayaram Sahu Eat Glass In Hindiimage source

“ मैने यह कांच खाना लगभग 40 साल पहले ही शुरु कर दिया था। कुछ अलग करने की चाह की वजह से मैने कांच खाना शुरु किया। अब तो कांच खाने का नशा सा हो गया है।”

डॉक्टर ने इस बारे में बताया की कांच खाने से आंतो को भारी नुकसान हो सकता है। लेकिन दयाराम साहू कहते है की

लगभग 40 साल से कांच खाता आ रहा हूं लेकिन मुझे आजतक कुछ नही हुआ बस मैरे दांत खराब हो गए है। मै किसी भी व्यक्ति को ऐसा करने के लिए नही कहूंगा यह आपकी सेहत को भारी नुकसान पहूचा सकता है

Dayaram Sahu Eat Glass In HindiSource static.punjabkesari.in

इस पुरी घटना के बारे में शाहपुरा के सरकारी हॉस्पिटल के डांक्टर सतेन्द्र परस्ते का कहना है की - कांच खाना आपके शरीर को भारी नुकसान पहूचा सकता है गलती से भी इसका सेवन न करें । कांच को शरीर पुरी तरह डायजेस्ट नही कर पाता और यह सीधा आहार नली को नुकसान पहुचाता है। इससे अल्सर व संक्रमण फैलने की सभावना ज्यादा हो जाती है। जो आपके शरीर में पेट से जुड़ी बीमारीयों को जन्म देता है।

दोस्तो आपको बता दें की फिलहाल दयाराम साहू ने डांक्टर के परामर्श पर कांच खाने की आदत को कम कर दिया है। दयाराम के अनुसार वो पहले एक दिन में 5 किलो तक कांच खा जाते थे।

Read More - ऐसे रोचक तथ्य जो आपको हजम नहीं होंगे