×

CA को भूल साइकिल लेकर निकल पड़ा रांची से सिंगापुर | Himanshu Goyal Cycle Trip Story In Hindi

CA को भूल साइकिल लेकर निकल पड़ा रांची से सिंगापुर | Himanshu Goyal Cycle Trip Story In Hindi

In : Viral Stories By storytimes About :-18 days ago
+

जहां आज के युवा की हम बात करें जो उन्हें सबसे ज्याद अपने करियर की चिंता रहती है , कब जॉब लगेगी कब क्या होगा बस इसी सोच में डूबे रहते है। ठीक ऐसे ही आप भी अपने करियर को लेकर चिंतित रहते होगें।  लेकिन 24 साल के हिमांशु गोलय थोड़े अलग अंदाज के है जीवन में साइकिलिंग का ऐसा क्रेच आया की सीए फाइनल भी बीच में छोड़ दिया और साइकिल लेकर निकल पड़े एक लंबी यात्रा पर। यात्रा कहां से कहा ? हिमांशु की यह यात्रा साइकिल से रांची से सिंगापुर तक थी। तो चलिए अपने इस अलग ही जुनून के लिए सुर्खियों में आएं हिमांशु के इस सफर को जानते है।

नही गए सीए फाइनल का एग्जाम देने

Himanshu Goyal Cycle Trip Story In HindiSource navbharattimes.indiatimes.com

अपने साइकिलिग के जुनुन के चलते हिमाशु अपनी सीए फाइनल के एग्जाम देने भी नही पहुंचे।

55  दिन 6000 किलोमिटर का सफर

Himanshu Goyal Cycle Trip Story In HindiSource encrypted-tbn0.gstatic.com

हिमांशु का सफर 55 दिनों का रहा इन 55 दिनो के सफर में हिमांशु ने रांची से सिंगापुर तक कुल 6000 हजार किलोमिटर का सफर तय किया।

खुद तैयारी कर निकले सफर पर

हिमांशु ने इस सफर में किसी से मदद नही ली और सारी तैयारीयां अपने स्तर पर की। अपने साथ ज्यादा कुछ न लेते हुए सफर के लिए महत्वपुर्ण चीजें जैसे, जरुरत अनुसार अपनी बचत के पैसे लिए, साइकिल की पंचर किट, अपने कुछ कपड़े, फर्स्ट ऐड किट, सामान अपने साथ लिया।

मनाली लद्दाक जा कर मिली आगे बढ़ने की हिम्मत

Himanshu Goyal Cycle Trip Story In Hindiimage credit by instagram

रांची से अपने सफर की शुरुआत पर निकले हिमांशु शुरुआत में हर दिन केवल 10 किलोमिटर ही साइकिलिंग कर रह थें। लेकिन जब उनका सफर मनाली से लद्दाक तक रहा तब उनके अंदर आगे बढ़ते का हौंसला आया बस यही से उन्होंने सिंगापुर की ट्रिप के बारे में विचार किया।

15 दिन में घूमें पुरा थाइलैंड

अपने साइकिल के सफर पर जब हिमांशु थाइलैंड पहुंचे तब हिमाशु का केवल 15 दिन का ही विजा बना था। लेकिन हिमांशु के लिए यह 15 दिन काफी थें वो इन 15 दिनो में पुरा थाइलैंड घूम गए। बता दे की 15 में उनका यह सफर 1500 किलोमीटर का था।

नही है परीक्षा देने का अफसोस

Himanshu Goyal Cycle Trip Story In Hindi

image credit by instagram

अपने इस सफर के बारे में बात करते हुए हिमांशु ने बताया की उन्हें इस बात का मलाल नही है की इस ट्रिप की वजह से उनकी फाइनल परीक्षा छुट गई। वो कहते है की जो वो जीवन में बनना व होना चाहते थे वो इन्हें इस ट्रिप के बाद ही महसूस हुआ है। इस सफर के बाद उनका अगला ट्रिप दिल्ली से फिनलैंड तक होगा। वा हिमांशू आपकी इस सोच ने लोगो को कुछ नया सोचने की सीख दी है।

Read More - 1200 किलोमीटर 97 घंटे लगातार साइकिलिंग कर भारतीय बेटी ने रचा इतिहास