×

हिंदुस्तान की आजादी से जुड़ी 10 दिलचस्प बातें | Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

हिंदुस्तान की आजादी से जुड़ी 10 दिलचस्प बातें | Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-4 months ago
+

15 अगस्त यानी आजादी दिवस का दिन सालों से अंग्रेज़ी सरकार की गुलामीं के नीचे जीने के बाद हिंदुस्तान के लिए 15 अगस्त 1947 का दिन आजादी का पहला दिन था. देश की आजादी के लिए चलें लबें संघर्ष के बाद भारत ब्रिटिश सरकार कि गुलामी की जंजीरों से मुक्त हुआ. देश की आजादी के लिए भगत सिंह सुखदेव, राजगुरु जवानी में देश को गुलाम मुक्त करने के लिए फांसी के फंदों पर चढ़ गए और आज उन्हीं वीरों का बलिदान है जिस वजह से हम आजाद भारत में जी रहें है दोस्तो आज हम आपको आजादी के समय से जुड़ी भारत की 10 दिलचस्प बातें बताने वाले है जिनसे कम ही लोग अवगत है. 

#1. 

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource cdn.theatlantic.com

भारत की आजादी में महत्वपुर्ण भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी भारत की आजादी के दिन दिल्ली में नही थे. इस दिन गांधी जी दिल्ली से कई कोसो दुर बंगाल राज्य के नोआखली में गए हुए थें बंगाल में उस दौरान हिंदुओं ओ मुसलमानों के बीच सांप्रदायिक हिंसा छिड़ गई थी इसे रोकने के लिए गांधी जी वहां अनशन पर थे.

#2.

Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

Source cdn-live.theprint.in

जब यह बात तय हो गई थी की भारत देश को 15 अगस्त के दिन आजादी मिल जाएगी तब पण्डित जवाहर लाल नेहरू ओर सरदार वल्लभ भाई पटेल ने बंगाल में अनशन पर चल रहें महात्मा गांधी को एक खत लिख कर  इसमें लिखा की “ 15 अगस्त को हमारा देश पहली बार एक स्वाधीन देश बनने जा रहा है आप राष्ट्रपिता है. इसमें शामिल हो कर अपना आशीर्वाद दें.

#3.

Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

Source th.thgim.com

पण्डित जवाहर लाल नेहरू और सरदार वल्लभ भाई पटेल के द्वारा भेजे गए पत्र का जबाब देते हुए माहत्मा गांधी ने लिखा की “ जब कलकत्ते में हिंदु ओर मुस्लिम में सांप्रदायिक  हिंसा चल रही है लोग एक दुसरे की जान लें रहें है ऐसे में देश के जश्न में कैसे शामिल हो सकता हुं. मै इन दगों को रोकने के लिए अपनी जान भी दें दुगां"

#4.

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource www.cam.ac.uk

पण्डित जवाहर लाल नेहरू के द्वारा दिया गया ऐतिहासक भाषण “ ट्रिस्ट विद डेस्टनी“ 14 अगस्त के दिन मध्यरात्री को वायसराय लॉज (वर्तमान में भारत का राष्ट्रपती भवन) से दिया था. उस नेहरु भारत के प्रधानमंत्री नही थें. नेहरु जी द्वारा दिए गए इस भाषण को पुरी दुनिया ने सुना लेकिन गांधी जी तब 9 बजें ही सोने के लिए चलें गए थे.

#5.

Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

Source cdn.images.express.co.uk

लॉर्ड मांउटबेटन ने 15 अगस्त 1947 के दिन अपने कार्यलय में काम किया और दोपहर के समय पण्डित जवाहलाल नेहरु ने उन्हें मंत्रिमंडल की लिस्ट दी और कुछ देर पश्चात इंडिया गेट के पास स्थित प्रिसेंज गार्डेन मे एक सभा का आयोजन किया गया.

#6.

Interesting Stories of Freedom of India In Hindi

Source th.thgim.com

देश में जब भी स्वतंत्रता दिवस का आयोजन होता है तब उस समय के भारत के प्रधानमंत्री लाल किलें से देश का तिंरगा फहरातें है. लेकिन 15 अगस्त 1947 के दिन ऐसा नही हुआ था. लोकसभा में मौजूद एक पत्र के अनुसार पण्डित नेहरु ने 16 अगस्त 1947 को लाल किले से झंडा फहराया था.

#7.

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource 1.bp.blogspot.com

भारत को 15 अगस्त के ही दिन आजाद करने के पीछें भारत के तत्कालीन वायसराय मांउटबेटन के प्रेस सचिव रहें कैंपबेल जॉनसर के अनुसार अपने पड़ोसी देश के जापान के सामने समर्पण की वर्षगांठ 15 अगस्त के ही दिन थी इस वजह से भारत देश को भी इसी दिन आजाद करने का निर्णय लिया गया.

#8.

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource s-media-cache-ak0.pinimg.com

भारत की आजादी 15 अगस्त के दिन भारत और पाकिस्तानकी सींमाओं का बंटवारा नही हुआ था. इस मसलें पर फैसला 17 अगस्त के दिन रेडक्लिफ के रुप में आया था.

#9.

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource www.meritnation.com

भारत देश को 15 अगस्त 1947 को आजादी जरुर मिल गई थी लेकिन तब भारत के पास अपना खुद का कोई राष्ट्रगान नही था हांलाकी दोस्तो रवींद्रनाथ टेगोर ने साल 1911 में ही जण मन गण की रचना कर दी थी लेकिन इसे साल 1950 में राष्ट्रगान के रुप में स्वीकार किया गया था.

#10.

Interesting Stories of Freedom of India In HindiSource hdwallpapersrocks.com

15 अगस्त के दिन भारत के अलावा दुनिया के 3 और देशों का भी स्वतंत्रता दिवस है इसमें पहला है दक्षिण कोरिया जिसें जापान से 15 अगस्त 1945 को आजादी मिली. बहरिन को ब्रिटेन से 15 अगस्त 1971 और कांगो को फ्रांस से 15 अगस्त 1960 को आजादी मिली थी.

Read More - 15 अगस्त पर स्टेज उद्बोधन के लिए महत्वपूर्ण कविताएं