×

35 बार असफल होकर IPS बनें विजय वर्धन की पूरी कहानी | IPS Vijay Vardhan Success In Hindi

35 बार असफल होकर IPS बनें विजय वर्धन की पूरी कहानी | IPS Vijay Vardhan Success In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-10 days ago
+

नेपोलियन हिल द्वारा कहि बात "अधिकतर महान लोगो ने अपनी सबसे बड़ी सफलता अपनी सबसे बड़ी विफलता के बाद हासिल की है" जिसे विजय वर्धन ने सच साबित कर दी और ऐसे कई लोगो के लिए प्रेरणा बन गए जो अपनी कुछ हार के बाद कोशिस करना ही छोड़ देते थे और जीवन भर अपनी किस्मत को कोसते रहते है 

दोस्तों हम बात कर रहे हरियाणा के सिरसा जिले के रहने वाले विजय वर्धन IPS Vijay Vardhan की जो सरकारी नौकरी को पाने के लिए करीब 35 परीक्षा दे चुके थे लेकिन हर बार उन्हें असफलता ही मिली लेकिन दोस्तों अपने जीवन के इन संघर्ष भरे दिनों में विजय वर्धन ने हार नहीं मानी और संघर्ष करते रहें और किसी ने सही कहा है जो मेहनत करता है वो दुनिया की किसी भी चीज को हासिल कर सकता है फिर चाहें उस मंजिल के रास्ते कितने भी कठिन हो ऐसे ही विजय वर्धन की मेहनत रंग लाई और उन्होंने UPSC की सिविल सर्विस की परीक्षा में 104 रैंक प्राप्त कर अपनी मंजिल को हासिल कर किया

IPS Vijay Vardhan Success In Hindi

Source s4.scoopwhoop.com

साल 2019 से पहले विजय वर्धन कुल चार बार सिविल सर्विस के एग्जाम में अटेंप्ट कर चुकें थे इस पर विजय ने बताया की 

अपने अटेंप्ट देने के बाद परिवार और कई मिलने वाले लोगो ने मेरे से कहा की अटेंप्ट मत दो लेकिन दोस्तों विजय ने अपने इस सफर में लोगो की बातों को अनसुना करते हुए आगे बढ़ते गए और जब उन्होंने पांचवा अटेंप्ट दिया तो उन्हें अपने जीवन की सबसे बड़ी मंजिल जिसे पाने के लिए वो कई बार असफल हुए वो उन्हें मिल गई दोस्तों आपको बता दे विजय वर्धन ने साल 2013 में इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन से इंजनियरिंग भी कर चुकें है

विजय वर्धन ने अपने इस पुरे सफर के बारे में बताया की

" साल 2013 में सिविल सर्विस की क्लास के लिए दिल्ली आया था वर्ष 2014 में आईएएस की प्रारंभिक एग्जाम के बाद मेन्स के एग्जाम दिए लेकिन में इसमें असफल रहा और बाद में साल 2015 में फिर मेन्स के एग्जाम दिए और फिर मुझे असफलता हाथ लगी" - विजय वर्धन

IPS Vijay Vardhan Success In HindiSource images.gawker.com

दोस्तों ये असफलताओं का सिलसिला विजय वर्धन के जीवन में रुका ही नहीं साल 2016 विजय ने मेन्स के एग्जाम क्लियर किया और एग्जाम के क्वालीफाई के इंटरव्यू तक पहुंचे मगर यहां वो 6 नंबर से चूक गए बाद में साल 2017 में फिर क्वालिफ़ाई के इंटरव्यू तक पहुंच कर असफल हो गए दोस्तों विजय का असफलताओ का सफर यही खत्म नहीं हुआ उन्होंने UPSC के अलावा राजस्थान सिविल सर्विस हरियाणा सिविल सर्विस UPSC, SSC CGL की भी परीक्षा दी लेकिन सब में मिली तो असफलता

इस बारे में बात करते हुए विजय वर्धन ने बताया की

" में परीक्षा में कभी कम अंको की वजह से असफल होता तो कई बार पास होने के बाद कभी मेडिकल स्टैंडर्ड तो कई बार दस्तावेजों के वेरिफिकेशन में रह जाता था तब मेरे मन में एक ही ख्याल आता आखिर ये सब मेरे साथ ही क्यों होता है "

लेकिन जब में सफल हुआ जब में अपनी पीछे छूटे संघर्षो के दिन याद करता हु तो ऐसा महसूस होता है की उन सभी असफलताओं में ही मेरी सफलता छुपी थी

IPS Vijay Vardhan Success In HindiSource i.pinimg.com

"लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती कोशिश करने वालों की हार नहीं होती" और इस बात को सच साबित कर दिया विजय वर्धन ने UPSC की परीक्षा में 104 वीं रैंक हासिल कर

IPS बनें लोगो की सक्सेस स्टोरी पढ़े - सिक्किम की पहली महिला IPS अपराजिता, एक किसान की बेटी इल्मा अफरोज बनी IPS अधिकारी