×

इस गांव में हिंदू करते है अजान व मस्जिद की देखरेख | Mari Village Nalanda Story In Hindi

इस गांव में हिंदू  करते है अजान व  मस्जिद की देखरेख | Mari Village Nalanda Story In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-2 months ago
+

दोस्तो आपको कवी साहिर लुधियानवी द्वारा लिखा गया गीत तो याद होगा की “ ना तू हिंदू बनेगा न मुसलमान बनेगा, इंसान की ओलाद है इंसान ही बनेगा” बचपन में इस गीत को दूरदर्शन के कार्यक्रम “चित्रहार” व “ रंगोली में हम सुनते थे। धर्म से ऊपर उठकर इंसानियत के बारे में समझाने वाले इस गीत पर आज लोगो पर कितना असर हुआ है। आज एक तरफ मस्जिद का मुद्दा बन गया है एक तरफ मंदिर का। बस दो जातियों को धर्म के नाम पर उकसाया जाता है। लेकिन दोस्तो आज ऐसी कहानी लाए है जो बिहार के नालंदा जिले के एक गांव की है। जो सच में लोगो को धर्म से ऊपर उठकर लोगो को इंसानियत का पाठ पढाता है। तो चलिए इस अनोखे गांव की अनोखी कहानी शुरुआत से जानते है।

मस्जिद की देखभाल ओर अजान करते है हिंदू

Mari Village Nalanda Story In Hindi

Source navbharattimes.indiatimes.com

बिहार राज्य के नालंदा जिले में इंसानियत की मिशाल पेश करने वाले इस गांव का नाम है मारी गांव। जहां के लोग “समानता“  और सौहार्द जेसे शब्दो को किताबो में ही बंद नही किया बल्कि इसे अपने जीवन में भी उतारा है। मारी गांव की खास बात है की यहां एक मस्जिद जिसकी देखभाल से लेकर अजान तक का पुरा कार्य गांव में रहने वाले हिंदू लोग करते है।

गांव छोड़ गए मुस्लिम

इस पुरे घटना क्रम की एक रिपोर्ट के अनुसार गांव में कोई रोजगार न होने कारण समय के साथ मुस्लिम परिवार गांव छोड़कर चले गए। आज गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नही बचा है। गांव से मुस्लिम परिवारो के पलायन के बाद गांव में मस्जिद की देखरेख व अजान करने वाला कोई नही था। तब गांव में इस स्थिति को देख गांव में बसे हिंदू परिवार के लोगो ने मस्जिद की देखरेख व अजान का जिम्मा उठाया। स्थानिय लोगो के अनुसार यह कई साल पुरानी मस्जिद है। इस वजह से इससे सभी लोगो की आस्था जुड़ी हुई है।

साल 1920 में हुआा था मस्जिद का निमार्ण

Mari Village Nalanda Story In Hindi

Source im.indiatimes.in

मारी गांव के लोगो के अनुसार इस मस्जिद का निमार्ण साल 1920 में हुआ था। जब भारत देश के दो हिस्से हुए थे। तब इस गांव में करीब 50 मुस्लिम परिवार थे। लेकिन बंटवारे के समय कई परिवार पाकिस्तान चले गए ओर जो परिवार बचे थे जो गांव में कोई रोजगार न होने कारण शहर में जा कर बस गए।

ऑडियो टेप व पेन ड्राइव से होता है अजान

Mari Village Nalanda Story In Hindi

Source www.theleadersnews.com

गांव में बनी इस मस्जिद की हिंदू परिवार के लोग देखरेख करने के साथ, यहां हर रोज ऑडियो टेप व पेन ड्राइव की मदद से मस्जिद में अजान करते है। साथ ही गांव में जब भी किसी भी घर में शादी होती है तो नवविवाहित जोड़े मस्जिद में जा कर सलामती की दुआ मागते है। जब भी मंदिर में सहयोग की बात आती है तब गांव के सभी लोग  बढ़ चढ कर सहयोग के लिए आगे आते है। 1920 में बनी इस मस्जिद का आज सफाई का जिम्मा गांव के गौतम महतो, अजय पासवान, बखोरी जमादार ने संभाल रखी है।

Read More - पहली एमबीए महिला संरपच छवि राजावत