×

कहीं देश भूल तो नहीं रहा है 1971 के पाक कैद में 54 वीर सैनिकों को | Missing In Action Soldier

कहीं देश भूल तो नहीं रहा है 1971 के पाक कैद में 54 वीर सैनिकों को | Missing In Action Soldier

In : Meri kalam se By storytimes About :-10 months ago
+

दोस्तों जैसे ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के वायु सेना के विग कमांडर को भारत भेजने का विश्वास दिया तब से पुरे भारत में खुशी का माहौल है बीते बुधवार को हुई घटना में अभिंनदन पाकिस्तना के F-16 से लड़ते हुए पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश कर गए और अचानक उनका विमान मिग -21 क्रेस हो गया पुरे दो दिनों तक दोनों देशो के बीच हुई गरमा -गरमी के बाद पाकिस्तान ने विग कमांडर को सलामत भारत भेजने को तैयार हो गया

Missing In Action Soldier

Source images.indianexpress.com

दोस्तों इस पुरे मसले के दौरान हमने न्यूज़ चैनल्स और कई अखबारों की हेड लाइन्स में जेनेवा कन्वेंशन शब्द काफी सुनने और देखने को मिला और कमांडर अभिनंदन को भारत देश इस लिए वापिस भेजा जा रहा है की वो एक जंग के कैदी है जब ये बातें चल रही है तो दोस्तों हमें साल 1971 में हुई भारत पाकिस्तान के जंग में भारत के 54 जवान पाक की कैद में हो गए थे दोस्तों आज उन्हें " The Missing 54 " के नाम से देश में जाना जाता है हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने इस बात को कभी स्वीकार ही नहीं किया की हमारे पास भारत के 54 सैनिक कैद है 

साल 1971 के युद्ध समाप्ति के बाद देश के इन वीर जवानो को "Missing In Action "और जो इस युद्ध में शहीद हुए उन्हें "Killed In Action" का दर्जा दिया गया लेकिन दोस्तों आज भी ये बात कई लोगो के गले नहीं उतरी है हमारे सैनिक पाक के पास नहीं है ऐसा माना जाता है की ये सैनिक आज भी पाक की अलग -अलग जेलों में कैद है

Missing In Action Soldier

Source telugu.samayam.com

इस पूरी लिस्ट में 54 जवान शामिल है जिसमे 30 जवान भारतीय सेना के और बाकि 24 सैनिक वायु सेना के है आर्मी के जवानों में लेफ़्टिनेंट, 2 सेकेंड लेफ़्टिनेंट, 6 मेज़र, 2 सुबेदार, 3 नायक लेफ़्टिनेंट, 1 हवलदार, 5 गनर और 2 सिपाही शामिल है और वायु सेना की बात करे तो 3 प्लाइट ऑफिसर 1 विंग कमांडर और 5 स्कॉ़ड्रन लीडर और इस लिस्ट में 16 फ्लाइट लेफ्टिनेंट शामिल है 

दोस्तों ये पूरी लिस्ट साल 1979 में संसद में चल रहे अभिभाषण के दौरान तत्कालीन विदेश राज्य मंत्री समरेंद्र कुंडु ने ये पूरी लिस्ट जारी की थी

Missing In Action Soldier

Source 2.bp.blogspot.com

दोस्तों उस समय देश के लिए शर्म की बात ये रही की सैनिकों के परिवार जनों ने संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय कमेटियों के सामने अपने सपूतो को छुड़ाने की हर कोशिश की लेकिन उन्हें हर बार निराश होना पड़ा और इस पर कभी कोई सुनवाई नहीं की गई 

वहीं दूसरी तरह 1971 युद्ध में भारत ने पाकिस्तान की लगभग पूरी सेना को अपने कब्जे में ले लिया था लेकिन  भारत ने शिमला शांति समझौते के तहत सभी सैनिकों को रिहा कर दिया था

लेकिन दूसरी और पाक 1989 तक भारत और अंतरराष्ट्रीय देशों को इस बात के लिए मना करता रहा की हमारी कैद में कोई भी भारतीय सैनिक नहीं है लेकिन इस मसले से पर्दा तब उठा जब पाकिस्तान की प्रधानमंत्री भारत दौरे पर आई और उन्होंने बताया की भारत के सभी सैनिक उनकी जेलों में ही कैद है साल 1989 भारत के प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के इस्लामाबाद दौरे के दौरान भी भारत के सैनिकों की रिहाई के मसले पर बात हुई

Missing In Action Soldier

image source

लेकिन समय के साथ पाक अपने बयानों से मुखरता गया पाक के राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ ने भी भारतीय सैनिक पाक की जेलों में कैद होने से साफ 
इनकार कर दिया 
एक न्यूज़ The Diplomat  अपनी एक रिपोर्ट में बताया की साल 1972 में पत्रिका टाइम्स ने पाक की जेलों के अंदर से कुछ तस्वीरें कैद की थी जहां भारत के सैनिकों के परिवार वालो ने अपने सपूतों को शहीद मान लिया था इस तस्वीर को देखने के बाद उन्होंने सैनिकों को पहचान लिया था

सुप्रीम कोर्ट ने साल 2015 में केंद्र की सरकार से देश उन 54 सैनिकों के बारे में पूछा क्या वो जिंदा है या नहीं तब इसका जबाब देते हुए सोलिसेटर जनरल रंजित कुमार बोले "हमें नहीं पता "

Missing In Action Soldier

Source cms-img.puthiyathalaimurai.com

और बताया की हम इस बात को मानते है की उन सभी सैनिकों की मौत हो गई है क्योंकि हमारा पड़ौसी देश पाकिस्तान उन सैनिकों की मौजूदगी के लिए मना कर रहा है 

दोस्तों आज देश जवान अभिनंदन अपने देश वापिस लोट आये है लेकिन देश उन 54 जवानों की कुर्बानी को कभी नहीं भूल सकता एक दिन पाकिस्तान को इस का जबाब देना ही होगा