×

पद्मश्री सम्मानित संगीतकार को जीने के आज लिए बेचना पड़ रहा घर का सामान | Vanraj Bhatia News In Hindi

पद्मश्री सम्मानित संगीतकार को जीने के आज लिए बेचना पड़ रहा घर का सामान | Vanraj Bhatia News In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-30 days ago
+

हम लोगो के बीच कई बार बॉलीवुड से जुड़ी बातें होती है। बॉलीवुड के लोगो का रहन सहन देख कर हम अक्सर कहते है की इनकी लाइफ जेसी दिखती है वेसी है नही। आज हम ऐसे ही एक कलाकार की बात करने वाले है जो एक समय बॉलीवुड में स्टार थे लेकिन आज एक गुमनामी का जीवन जी रहे है। किसी ने सही कहा है की इंसान के जीवन में हालात कब बदल जाए कोई नही बता सकता। दोस्तो हम बात कर रहे अपने समय के बॉलीवुड के मशहूर संगीत निर्देशक रहे वनराज भाटिया अपने दौर में उन्होंने संगीत के निर्देशन में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार हासिल किया था, वही साल 2012 में इन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री पुरस्कार  से भी सम्मानित किया गया था। लेकिन समय की ऐसी बाजी पलटी की आज भाटिया साहब तगहाली के दौर से गुजर रहे है।

आज है मदद की आवश्कता

Vanraj Bhatia News In HindiSource www.thehindu.com

भाटिया जी के आज के हालात पर “मुंबई मिरर” के अनुसार आज भाटिया जी को लोगो की मदद की आवश्कता है। अब उनकी सेहत भी उनके साथ नही है काफी समय से बीमार चल रहे है। आज भाटिया जी की बाहरी दुनिया से दूरीया बहुत अधिक हो गई है। भाटिया जी ने अपने बारे में बात करते हुए मुंबई मिररको बताया की आज उनके यह हालात हो गए है की उनके पास एक रुपया भी अंकाउट में नही है

एकमात्र सहारा है नौकर

भाटिया जी ने बात करते हुए बताया की आज उनके जीवन में दुख-सुख का एक ही साहरा है उनका नौकर। आज घर के आर्थिक हालात इतने बिगड़ गए है की घर की आवश्यकताओं को पुरी करने के लिए उन्हें अपने घर का सामान ही बेचना पड़ रहा है।

पैसो के अभाव में नही हो रहा इलाज

Vanraj Bhatia News In HindiSource www.hindustantimes.com

दोस्तो आपको बता दे की आज भाटिया साहब की उम्र 92 साल हो गई है। घर के नौकर ने बताया आर्थिक तंगी के चलते उनका काफी समय से इलाज नही हो पा रहा है। उम्र के साथ अब उनकी सेहत और कमजोर हो रही है धीरे-धीरे उनकी आज देखने व सुनने की क्षमता कमजोर हो रही है। भाटिया जी की इस हालत में उनके पड़ोसी मदद के लिए जरुर आते है बस इसी सहायता से आज भाटिया जी का जीवनयापन होता है।

इन फिल्मों में दिए अपने संगीत

Vanraj Bhatia News In HindiSource img.timesnownews.com

वनराज के निर्देशन में उन्होंने मशहुर टीवी सीरियल “ भारत की खोज” में संगीत दिया था। इसके साथ ही उन्होंने श्याम बेनेगल द्वारा निर्मित फिल्म “अंकूर” और “भूमिका” जैसी सुपरहिट फिल्मों मे अपना संगीत दिया था। भाटिया जी ने अपने निर्देशन में “जाने भी दो यारो” जैसी फिल्म में भी संगीत दिया था। अपने संगीत के क्षैत्र में अच्छे काम की बदोलत उन्हें “ संगीत अकादमी पुरस्कार” भी मिला हुआ है। अपने फिल्मी सफर में भाटिया जी ने “त्रिकाल” सुरज का सातवां घोड़ा”, “जुनून” , “कलयूग”, जैसी फिल्मों में काम किया था।

Read More -  दुनिया के इन देशों में रेप की सजा होती है सीधे मौत