×

निसान ने इंसेंटिव न देने पर भारत के ख‍िलाफ किया 5000 करोड़ का मुकदमा दर्ज

निसान ने इंसेंटिव न देने पर भारत के ख‍िलाफ किया 5000 करोड़ का मुकदमा दर्ज

In : National By storytimes About :-2 years ago
+

जापान की कार निर्माता कंपनी निसान ने भारत के ख‍िलाफ 5000 करोड़ रुपये का मुकदमा ठोका है. कंपनी ने इस मामले में अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता की प्रक्रिया शुरू कर दी है. निसान का आरोप है कि भारत ने उसे इंसेंट‍िव के तौर पर 5000 करोड़ रुपये का भुगतान करना था, जो नहीं किया गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की खबर के अनुसार company ने इस नोटिस में तमिलनाडु government  से बकाया इंसेंटिव की मांग की है बता दें कि कंपनी ने साल 2008 में तमिलनाडु सरकार के साथ समझौता किया था. इसमें राज्य में कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने को लेकर करार हुआ था इस मुद्दे में पहली सुनवाई दिसंबर के मध्य से प्रारंभ हो सकती है

ये पहली बार नहीं है कि जब निसान ने इंडिया पर ऐसा आरोप लगाया है इससे पहले company प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लीगल नोटिस भी भेज चुकी है इसमें उसने आरोप लगाया था कि 2015 में तमिलनाडु सरकार के अधिकारी बार-बार कहने पर भी बकाया इंसेंटिव की रकम नहीं दे रहे हैं. उनके अनुरोध को नजरअंदाज किया जा रहा है.
nissan के वकीलों द्वारा जुलाई 2016 में भेजे गए नोटिस के बाद भारत सरकार और तमिलनाडु सरकार की कई बार निसान के अध‍िकारियों के साथ बैठक हुई  इन बैठकों के दौर के बाद अगस्त में निसान ने भारत सरकार को एक मध्यस्थ नियुक्त करने की चेतावनी दी थी.

तमिलनाडु सरकार के एक वर‍िष्ठ अध‍िकारी ने कहा कि हमें लगा था इस विवाद का समाधान अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता के बिना हो जाएगा उन्होंने कहा कि बकाया राशि को लेकर कोई कठिनाई नहीं थी उन्होंने बताया कि विवाद का हल निकाले जाने का प्रयत्न किया जा रहा है.