×

MBA की फ़ीस से शुरू किया गारमेंट का बिजनेस आज सालाना टर्नओवर है दो करोड़ से ऊपर | Piyush Waragadia

MBA की फ़ीस से शुरू किया गारमेंट का बिजनेस आज सालाना टर्नओवर है दो करोड़ से ऊपर | Piyush Waragadia

In : Meri kalam se By storytimes About :-12 months ago
+

एमबीए की डिग्री लेने के बावजूद नहीं की नौकरी शुरू किया खुद का गारमेंट का बिजनेस | Piyush Waragadia Garment Business Success Story In Hindi

आज हर स्टूडेंट का एक सपना होता है की वो एक अच्छी कॉलेज से पढ़े और एक अच्छे पैकेज वाली कंपनी में नौकरी करे साथ ही आज हर युवा का विदेश जाने का सपना होता है। लेकिन दोस्तों सभी की सोच एक जैसी नहीं होती कई युवा अपने जीवन में इन सपनो के मोह को छोड़ कुछ अलग करने के बारे में सोचते है और ऐसा ही किया इंदौर के रहने वाले पीयूष वरगाड़िया ने जिन्होंने अपनी MBA की फीस से अपना खुद का गारमेंट का बिजनेस शुरू किया।

पीयूष ने अपने बिजनेस की शुरुआत महज पचास हजार रूपये से की थी। लेकिन छोटी रकम से बिजनेस शुरू करने के बाद भी आज उनके बिजनेस का सालाना टर्नओवर 2 करोड़ रूपये है । आज उनके पास 50 से ज्यादा लोगो का स्टाफ है.

कैसे की बिजनेस की शुरुआत | Garment Business Story

अपनी इंजीनियरिंग की शिक्षा पूरी होने के बाद पीयूष ने आगे MBA की शिक्षा करने पर विचार किया और MBA  की शिक्षा के लिए वो भारत से अमेरिका चले गए। अमेरिका जाने के बाद पीयूष की तबीयत ख़राब हो गई और वो वहां पर कई दिनों तक बीमार रहे। सेहत को बिगड़ते देख पीयूष वापस भारत आ गए। माता-पिता ने उनकी सेहत देख उन्हें भारत से ही MBA करने की सलाह दी.

Piyush Waragadia Garment Business Success Story In Hindi

Source frontera.net

पीयूष ने उनकी बात मानते हुए एमबीए करने के लिए पुणे शहर चले गए। और वहां वो अपने किसी रिश्तेदार के घर पर रुके और एमबीए की पढ़ाई करने लग गए। एक दिन कॉलेज से छुट्टी के कारण घर पर ही थे । तब उन्होंने देखा की उनके रिश्तेदार गारमेंट के बिजनेस से काफी पैसे कमा रहे है। गारमेंट के बिजनेस में पैसो की अच्छी इनकम होती है । आखिर लोग कपडे पहनना थोड़ी छोड़ देंगे.

इसी सोच के साथ पीयूष के मन में इस काम को शुरू करने का विचार आया और अपनी एमबीए की फीस पचास हजार लगा कर अपना खुद का बिजनेस शुरू कर दिया.

रिश्तेदार को देख शुरू किया बिजनेस | Piyush Waragadia Garment Business in Hindi

इस काम की शुरुआत में पीयूष ने इस क्षेत्र को थोड़ा परखा उन्होंने देखा की कई लोग महँगी शर्ट्स पहनने की शौकीन होते है लेकिन ज्यादा पैसे खर्च करने के बावजूद वो कपडे ज्यादा दिन तक नहीं चल पाते । तब पीयूष ने शर्ट बनाने की शुरुआत की और एक बेहतर क्वालिटी वाली शर्ट तैयार करने लगे.

पीयूष ने बताया की " काम की शुरुआत में जो शर्ट मार्केट में दो से तीन हजार रूपये में मिलती थी वो शर्ट उन्होंने महज सात से आठ सो रूपये में बेचीं। और इसके चलते उन्हें शुरुआत में काफी घाटा भी हुआ था"।

  • Piyush Waragadia Garment Business Success Story In Hindi

Source www.balkaninsight.com

पीयूष के अनुसार "धीरे-धीरे मैने मार्केट में और बेहतर क्वालिटी के शर्ट देना शुरू किया मैने एक टारगेट बनाया की हमारा उत्पाद हर एक ग्राहक तक पहुंचे पीयूष ने बताया की मैने खुद से चेक किया की आखिर कितनी धुलाई के बाद शर्ट का रंग उड़ जाता है। तब मैने पूरी बारीकी से इस विषय पर काम किया और शर्ट को इस तरीके से बनाया की शर्ट लंबे समय तक रंग ना छोड़े.

कपडे को धोने के बाद उसका रंग ना जाये ,स्ट्रेच न हो जब पीयूषने इस बिजनेस की शुरुआत की थी तब वो इसे खुद ही करते थे लेकिन आज उनके पास 50 से ज्यादा लोगो का स्टाफ है।

दोस्तों आज हर महीने पीयूष की कंपनी के द्वारा बने ब्रांड 4000 से भी अधिक बिकते है। दोस्तों पीयूष ने बताया की "जब मैने अपने बिजनेस की शुरुआत की थी तब मुझे कई लोगो ने बोला की तुम अच्छी शिक्षा प्राप्त कर चुके हो तुम्हें कोई अच्छी सी नौकरी करनी चाहिए" लेकिन पीयूष ने आज अपनी मेहनत से उन सभी लोगो को जबाब दे दिया है.

पीयूष की इस सफलता से हम सभी को एक सीख मिलती है की जीवन में हमें सभी मौको को पहचानना  चाहिए और हर समय सोचना चाहिए की किस तरह कौनसे मौके का फायदा उठाना है  एमबीए की शिक्षा पूरी करने के बाद पीयूष को भी कोई अच्छी नौकरी मिल जाती लेकिन पीयूष ने अपने जीवन में आये उस मौके को नहीं छोड़ा अगर पीयूष ने  एमबीए कर कोई अच्छी सी नौकरी पकड़ लेते तो आज हम उनकी ये सफलता की कहानी नहीं पढ रहे होते.