×

नक्सलियों के टारगेट पर PM मोदी, राजीव गांधी की हत्या के जैसे एक और कांड करने की फ़िराक में नक्सली...

नक्सलियों के टारगेट पर PM मोदी, राजीव गांधी की हत्या के जैसे एक और कांड करने की फ़िराक में नक्सली...

In : Politics By storytimes About :-1 year ago
+

terrorist attack plan to kill Prime Minister Narendra Modi

महाराष्ट्र के पुणे में पुलिस ने कोर्ट में एक पत्र(Letter) पेश करते हुये दावा किया है कि माओवादी PM नरेंद्र मोदी की 'राजीव गांधी की तरह हत्या' करने की साजिश रच रहे थे. पुणे की विशेष अदालत में सरकारी वकील ने गुरुवार को यह बात बताई.
पुलिस का कहना है कि भीमा-कोरेगांव में जनवरी में हुई हिंसा के सिलसिले में पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद ये ख़ुफ़िया जानकारी(Information) सामने आई है. पुलिस का ये भी दावा है कि यह पत्र एक अभियुक्त रोना जैकब विल्सन के दिल्ली में मुनिरका स्थित फ्लैट से बरामद किया गया है.

source

पुलिस के मुताबिक किसी 'कॉमरेड प्रकाश' को सम्बोधित इस पत्र में बिहार और पश्चिम बंगाल की हार के बावजूद भाजपा की 15 से अधिक राज्यों में जीत पर चिंता जताई गई है. पत्र में कहा गया है, "अगर BJP मोदी की अगुवाई में ऐसे ही आगे बढ़ती रही तो ये हमारे अंत का कारण होगा". मोदी राज का अंत करने कॉमरेड किशन और कुछ अन्य वरिष्ठ कॉमरेड्स ने कड़े कदम अर्थात 'कॉन्क्रीट स्टैप्स' सुझाये हैं. हम राजीव गाँधी जैसी एक और घटना(slaughter) के बारे में सोच रहे हैं."
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरम्बदूर में मानव बम की हत्या की गई थी. राजीव गांधी वहाँ एक सभा(Road Show) में शामिल होने के लिए गए थे.

पीएम सुरक्षा की समीक्षा

source

जम्मू में संवाददाताओं से बातचीत में राजनाथ ने कहा, "वैसे हम अपने प्राइम मिनिस्टर की सिक्योरिटी को लेकर बराबर गंभीर रहते हैं, और माओवादियों का जहाँ तक सवाल है, उनके बारे में मैं कहना चाहूंगा, इस समय वो हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं. माओवादी उग्रवाद(Maoist insurgency) अब काफ़ी कम हो चुका है. पहले देश के 135 ज़िलों में माओवाद का ख़ासा प्रभाव था, अब छिटपुट 90 ज़िलों में उनका प्रभाव है और ज़्यादा प्रभाव की बात करूँ तो ये महज 10 ज़िलों तक सीमित रह गया है."

पुलिस के मुताबिक पत्र में लिखा गया है, "सम्भव है यह आत्मघाती(Suicidal) कदम हो, इस बात की भी आशंका है कि ये कदम असफल हो. लेकिन पोलित ब्यूरो को इस पर चर्चा करनी ही चाहिए. उनके रोडशोज़ को निशाना बनाना कारगर स्ट्रैटेजी हो सकती है."
पत्र के अंत में 18 अप्रैल 2017 यह तारीख़ है. इस पत्र में कॉमरेड साईबाबा और अन्य नामों का भी उल्लेख आया है.

देशभर में छापेमारी

source

उधर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को मीडिया से कहा कि नक्सली गतिविधियों के बारे में पुलिस को जो जानकारी हाथ लगी है, उसके आधार पर पूरे देश में छापे मारे गए हैं और कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने कहा, "अलग-अलग तरह के डॉक्युमेंट्स, इंटरनल कॉम्युनिकेशंस(INTERNAL COMMUNICATIONS), हार्ड डिस्क पुलिस को मिले हैं. इन चीज़ों को न्यायालय के सामने रखा जाएगा. इस मामले के और भी लिंक्स हैं, जिन्हें ढूँढने का काम चल रहा है, इस मौके पर इससे ज़्यादा बोलना उचित नहीं होगा."