इश्क हुआ है मुझे कि यह कहानी परीकथाओं सी प्रतीत होती है...

इश्क हुआ है मुझे कि यह कहानी परीकथाओं सी प्रतीत होती है...

In : Romantic By storytimes About :-6 years ago
+

the true love story

"इश्क हुआ है मुझे" कैसे हो जाता है प्यार,कैसे दिल की तरंग खिंच लाती है प्यार को सुनिए इन दिलवालों की कहानी|

सच्चे प्यार की सच्ची कहानी (True Love Story)

कोरबा (छत्तीसगढ़): के 31 साल के अविनाश बघेल जो दिल्ली में रहकर स्टडी कर रहें सोचा न था प्यार मेरे लब्जों से खिंचा चला आयेगा वो भी दूर देश से

यह कहानी हकीकत में सपने सी प्रतीत होती है पर सच है|

via

true love story

भारत (इंडिया )एक विविध संस्कृति वाली कंट्री है । हमारी संस्कृति और परम्परा में एक खिंचाव व आकर्षण है जो हर किसी को मोहित करती है । विश्व में भारत (इंडिया) अपनी विशाल संस्कृति और परम्पराओं के लिए जाना जाता है। लोगों को यहाँ की संस्कृति (कल्चर) और परम्परा (ट्रेडिशन) इतनी भा जाती है कि यहाँ की संस्कृति को अपना लेते हैं ।

इश्क महज एक आकर्षण नहीं है बल्कि दिलों की डोर है :

कहा जाता है प्रेम (Love) में दूरियां मायने नहीं रखती अविनाश और रुसी बाला की यह प्रेम कहानी बहुत कुछ कहती है | जब दो दिल धडकते हैं ना तो उन्हें कोई भी मुश्किल या दूरी रोक नहीं सकती | प्रेम की चिंगारी देशों की सीमाओं को कब लांघ जाती है । कैसे मिलने का रास्ता तलाश लेती कोई नहीं जानता | पर सच है सच्चे प्यार करने वालों को न देशों की सीमाएं रोक सकती न दूरियों की बाध्यता इन दो प्रेमियों ने दो देशों की सरहदों की दूरियों को नहीं माना । प्रेम के आगे देशों की सीमाएं भी छोटी पड़ गयी ।

संगीत के शौकीन अनिनाश ने संगीत से ही अपना प्यार पा लिया । अविनाश ने हाल ही में इश्क हुआ है मुझे नाम से गीत कंपोज किया और उसे जैसे ही यूट्यूब पर अपलोड किया । अविनाश का यह गाना सुदूर देश तक जा पंहुचा और अविनाश को प्यार का तोहफा इसी गाने ने दिला दिया |

23 वर्षीय रुसी बाला डियाना लिवा (Diana Liva) ने जब अविनाश (Avinash) का यह गाना सुना तो उन्हें कुछ कुछ हुआ और इसके बाद जो हुआ वह सपने से कम नहीं, भाषा की बाधा को डियाना ने ट्रांसलेट से सुलझा लिया और जब गाने के बोलों का मतलब डियाना के समझ आया तो उसका मासूम दिल अविनाश के लिए धडक उठा उसके बाद क्या था अविनाश और डियाना ने चैटिंग के जरिये अपने प्यार को पा लेने का संकल्प ले लिया । दोनों का प्यार रफ्ता- रफ्ता अपनी मंजिल तक आ पंहुचा |

अविनाश और डियाना के प्यार का सिलसिला दो साल के बाद अंजाम तक पंहुचा |

अविनाश (Avinash) अपने प्यार के लिए रुसी शहर नालचिन तक जा पहुंचा। जहाँ डियाना और उसका परिवार रहता है, और वहीँ पर दोनों ने सात फेरे लिए। अविनाश के पिता रामलाल बघेल बालको में काम करते हैं जबकि माँ रमा बघेल हाउस वाइफ हैं। वहीँ डियाना के पिता लुईसिया लिवा रिटायर्ड मिलिट्री ऑफिसर हैं और माँ यूरा लिवा हैं। अविनाश ने अपने प्रेम कहानी के बारे में बताते हुए कहा कि उनकी पहली बार डियाना (Diana) से मुलाकात (मीटिंग) दो साल पहले उस समय हुई थी जब उन्होंने एक गाना लिखा (कम्पोज) किया था।

डियाना ने भारतीय परम्परा के अनुसार की शादी:

अविनाश (Avinash) कहता है कि, शादी के लिए डियाना के परिवार वाले मुझे रूस बुला रहे थे। वहां होटल में रुकने की मेरे पास कोई वजह नहीं थी जिसके कारण मुझे वीजा (Visa) केवल कुछ ही दिनों के लिए मिला| लेकिन वहां जानें के बाद पता ही नहीं चला की मेरा वीजा सिमित अवधि के लिए है| मुझे वहाँ दो वीक के लिए रुकना पड़ा। इसके लिए डियाना के परिजनों ने जिम्मेदारी ली और मेरी वीजा (Visa) की वैलिडिटी बढ़वा दी तथा रुकने के लिए इंतज़ाम भी कर दिया। डियाना और अविनाश की शादी भारतीय पंडितजी  विनय मिश्रा (Vinay Mishra) ने करवाई। डियाना के हिंदी नहीं जानने के कारण संस्कृत मन्त्रों का ट्रांसलेशन इंग्लिश में किया गया, ताकि डियाना (Diana) और उसके परिजन भी समझ सकें। शादी के बाद डियाना और अविनाश की फैमिलीज बहुत खुश हैं।

फ्रेंड्स कैसी लगी यह Love Story

अपनी प्रतिक्रिया के द्वारा प्यार (Love) करने वालों का उत्साह बढ़ाएं

wish you all lover #Happy valentine day

इश्क हुआ है मुझे कि यह कहानी परीकथाओं सी प्रतीत होती है...