×

मोदी के जन-धन खातों की खुल रही है पोल, खातों से जुडी चौंकाने वाली रिपोर्ट आई सामने...

मोदी के जन-धन खातों की खुल रही है पोल, खातों से जुडी चौंकाने वाली रिपोर्ट आई सामने...

In : News By storytimes About :-1 year ago
+

Jan-Dhan Account News

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने 'जीरो बैंलेंस, जीरो चार्ज(Charge)' वाले खाते खुलवाने के लिए खूब प्रचार किया, पीएम नरेंद्र मोदी ने भी जीरो बैलेंस वाले जन धन खातों का अपने भाषणों में जमकर जिक्र किया। लेकिन इन खातों से जुड़ी अब एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट (BSBDA) जिसमें प्रधानमंत्री जन धन योजना अकाउंट भी शामिल हैं

4 बार लेन-देन के बाद रेगुलर अकाउंट में तब्दील नुकसान ये -

via

दरअसल ऐसे अकाउंट्स से महीने में चार फ्री ट्रांजैक्शन किया जा सकता  हैं, जिनपर कोई भी बैंक किसी भी तरह का चार्ज नहीं लगा सकते और उसके बाद पैसे निकालने पर चार्ज लगना होता है। लेकिन अब सामने आया है कि चार ट्रांजैक्शन(Transaction) पूरे होने पर ऐसे खातों को कई बैंक फ्रीज कर रहे हैं। वहीं एचडीएफसी, सिटी जैसे बैंक चार ट्रांजैक्शन पूरे होने पर उन खातों को खुद से ही रेग्युलर अकाउंट में तबदील कर रहे हैं। खाता रेग्युलर होने का नुकसान यह है कि अगर फिर उन अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखा गया तो कस्टमर्स(Customers) की तरह इन अकाउंट होल्डर्स पर भी पेनल्टी लगने लगती है। 

ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में आती है दिक्कत -

via

इतनी ही नहीं बैंकों ने फ्री ट्रांजैक्शन की परिभाषा को भी बिल्कुल बदल दिया है। इसमें सिर्फ एटीएम से निकाले गए पैसे ही नहीं बल्कि, आरटीजीएस, एनईएफटी, ब्रांच विद्ड्रॉल, ईएमआई को भी शामिल किया जा रहा है। वहीं खाता फ्रीज(Fridge) होने पर अगर किसी ने शुरुआती कुछ दिनों में चार ट्रांजैक्शन(Transaction) पूरी कर ली तो फिर बाकी पैसे निकालने के लिए उसे अगले महीने का इंतजार करना होगा। वहीं खाताधारक ऑनलाइन सामान खरीदने, भीम ऐप से पैसे ट्रांसफर करने या RuPay कार्ड से पैसे देने में असमर्थ हो जाते हैं। 

बैंक नहीं रखना चाहता जन-धन अकाउंट -

via

बता दें कि यह जानकारी आईआईटी(IIT) मुंबई की एक रिपोर्ट में सामने आई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक खाता फ्रीज कर देते हैं, HDFC और सिटी बैंक उन्हें रेग्युलर बैंक अकाउंट में बदल देते हैं। आईसीआईसीआई बैंक ने हाल में पांचवे ट्रांजैक्शन पर चार्ज लेना शुरू किया था, लेकिन विरोध के बाद फिलहाल ऐसा नहीं हो रहा।