×

आखिर क्यों ये तीन बड़े टूर्नामेंट 4 साल बाद ही आयोजित किये जाते है

आखिर क्यों ये तीन बड़े टूर्नामेंट 4 साल बाद ही आयोजित किये जाते है

In : Sport By storytimes About :-1 year ago
+

Fifa Olympic Cricket World Cup History

क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की है कि ओलंपिक, FIFA वर्ल्ड कप और क्रिकेट वर्ल्ड कप जैसे सभी बड़े इवेंट 4 साल बाद ही क्यों आयोजित किये जाते हैं? 2 साल या फिर 3 साल बाद आयोजित क्यों नहीं किये जाते? लेकिन इसके पीछे भी कई कारण हैं.फेडरेशन इंटरनेशनेल डी फुटबॉल एसोसिएशन (FIFA), खेल की वैश्विक(Global) शासी निकाय के सदस्यों के वरिष्ठ पुरुषों की राष्ट्रीय टीमों द्वारा खेली जाने वाली एक अंतरराष्ट्रीय संघ फुटबॉल प्रतियोगिता है। 1930 में Inauguration टूर्नामेंट के बाद हर चार साल से आयोजित किये जाते है|

776 ईसा पूर्व को हुई विस्तार की शुरुआत

दरअसल, 776 ईसा पूर्व में सैनिकों या योद्धाओं के लिए खाली समय में दौड़, मुक्केबाजी, कुश्ती और रथों की दौड़ जैसे खेल आयोजित किये जाते थे. जो कि सैन्य प्रशिक्षण(Training) का हिस्सा हुआ करता था. इसके बाद धीरे-धीरे इसका विस्तार होने लगा, जिसमें States और शहरों के खिलाड़ी भी भाग लेने लगे.

चार साल की इस अवधि को मिला 'ओलंपियाड' का नाम 

इस दौरान ये खेल(Games) हर 4 साल की अवधि(Time) के बाद आयोजित किये जाने लगे. चार साल की इस अवधि को 'ओलंपियाड'(Olympiad) का नाम दिया गया. ये खेल ओलंपिया पर्वत पर खेले जाने के कारण बाद में इसका नाम 'ओलंपिक' पड़ा.

इसके बाद साल 1896 में ग्रीस (एथेंस) से ओलंपिक खेलों की शुरुआत हुई. जिसे हर 4 साल में आयोजित किया जाने लगा. जबकि बाद में हर खेल ने इस परंपरा(tradition) को अपना लिया.

नहीं थे दूसरे देश में आने जाने के साधन 

इसके पीछे एक बड़ा कारण ये भी था कि उस दौर में आज की तरह हवाई यात्रा आसान नहीं थी. खिलाड़ियों(Players) को एक देश से दूसरे जाने के लिए सड़क या फिर पानी के रास्ते(The way) ही जाना पड़ता था जिसमें महीनों लग जाते थे. इसलिए खिलाड़ियों के लिए 2 साल या 3 साल की अवधि बेहद कम समय होता था. जबकि खिलाड़ियों(Players) को ख़ुद को फ़िट रखने के लिए भी समय की ज़रूरत होती थी. इसीलिए अधिकतर Games के खिलाड़ियों को इसके लिए 4 साल का वक़्त दिया जाने लगा.

ICC है तीनो खेलो का मुख्य

जैसे कि फ़ुटबाल में FIFA और क्रिकेट में ICC टीमों और खिलाडियों पर बारीकी से नज़र रखती है. हर साल किस टीम को कितने मैच खेलने होंगे वही तय करती है. जबकि नई टीमों के लिए क्वालिफायिंग(Qualifying) मैच भी रखे जाते हैं, ताकि वो एक उचित समय के दौरान ख़ुद के प्रदर्शन को सुधार सकें. इसके लिए 4 साल का समय दिया जाता है.

ओलंपिक-1 में 14 देशों के 200 एथलीटों ने 43 मुक़ाबलों में हिस्सा लिया था

ओलंपिक की शुरुआत 6 अप्रैल, 1896 को ग्रीस (एथेंस) से हुई थी. एथेंस ओलंपिक में सिर्फ़ 14 देशों के 200 एथलीटों ने 43 मुक़ाबलों में हिस्सा लिया था. ओलंपिक 1896 से अब तक हर चार साल में एक बार आयोजित किया जा रहा है.

Fifa World Cup की शुरुआत 1930 में हुई

फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप की शुरुआत साल 1930 में हुई थी. उरग्वे Final मुक़ाबले में अर्जेंटीना को हराकर पहला FIFA वर्ल्ड कप चैंपियन बना था. जबकि द्वितीय विश्व युद्ध के चलते 1942 और 1946 के FIFA वर्ल्ड कप नहीं खेले गए थे. ब्राज़ील ने सबसे ज़्यादा 5 बार FIFA वर्ल्ड कप जीता है.

क्रिकेट वर्ल्ड कप 1975 

क्रिकेट वर्ल्ड कप पहली बार साल 1975 में शुरू हुआ था. पहला मैच भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था. जिनमें इंग्लैंड ने भारत को 202 रनों से हराया था. जबकि वेस्टइंडीज़ ने फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराकर वर्ल्ड कप जीता था. 1975 से क्रिकेट वर्ल्ड कप हर चार साल के बाद खेला जा रहा है.