×

डिप्रेशन क्या है? कारण , लक्षण , उपाय और 9 रोचक तथ्य | All About Depression in Hindi

डिप्रेशन क्या है? कारण , लक्षण , उपाय और 9 रोचक तथ्य | All About Depression in Hindi

In : HEALTH AND FITNESS By storytimes About :-11 months ago
+

डिप्रेशन क्या है? लक्षण, उपाय और 9 रोचक तथ्य | Reasons, Symptoms, Measures & Interesting Facts Depression in Hindi

आजकल की भागदौड़ और तनाव (Tension) भरी जिंदगी में हर तीसरा आदमी अवसाद (Depression) का शिकार होता रहा है। अवसाद (डिप्रेशन) कई बार थोड़े समय के लिए ही रहता है, कभी यही डिप्रेशन भयानक रूप ले लेता है। जब कोई व्यक्ति अवसाद  संबंधी विकार (Disorder) से पीड़ित होता है, तो यह विकार (Disorder) उस व्यक्ति के रोजमर्रा के जीवन और उसके सामान्य कामकाज में बाधा डालता है तथा उस व्यक्ति और उसके परिवारजनों के दुखों का कारण (Reason) बन जाता है। अधिकतर मामलों में अवसाद से गंभीर रूप से पीड़ित मरीज भी इलाज से बेहतर हो सकते हैं । इस रोग के लिए हुई गहन शोधों से इस रोग से ग्रसित लोगों के इलाज के लिए अनेक औषधियां, साइकोथेरेपी और इलाज के अन्य तरीके ईजाद हुए हैं ।

क्या होती है अवसाद (डिप्रेशन) की स्थिति  

 What is depression? Reasons, Symptoms,

अवसाद (Depression) की स्थिति तब उत्पन्न होती है जब हम जीवन के हर पहलू पर नकारात्मक (Negative) रूप से सोचने लगते हैं। जब यह स्थिति चरम पर पहुंच जाती है तो व्यक्ति को अपना जीवन निरुद्देश्य (Indispensable) लगने लगता है। जब मस्तिष्क (Brain) को पूरा आराम नहीं मिल पाता और उस पर हमेशा एक दबाव बना रहता है तो समझिए कि तनाव ने आपको अपनी चपेट में ले लिया है। तनाव (Tension) के कारण शरीर में कई हार्मोन (Hormone) का स्तर बढ़ता जाता है, जिनमें एड्रीनलीन और कार्टिसोल प्रमुख हैं। लगातार तनाव की स्थिति अवसाद (Depression) में बदल जाती है। अवसाद एक गंभीर (Serious) स्थिति है। हालांकि यह कोई रोग नहीं है, बल्कि इस बात का संकेत है कि आपका शरीर और जीवन असंतुलित हो गया है।

अवसाद के कारण और लक्षण

 What is depression? Reasons, Symptoms,

अवसाद रोग का कोई एक ज्ञात कारण नहीं है। फिर भी अवसाद के कारणों में आनुवंशिकता, बायोकेमिकल, वातावरण और मनोवैज्ञानिक संबंधी मिश्रित घटकों का समावेश होता है। अनेक शोधों के अनुसार अवसाद से संबंधित बीमारियां मस्तिष्क के विकार हैं।पुरूषों की तुलना में महिलाएं डिप्रेशन से अधिक प्रभावित होती हैं। किसी भी काम में मन न लगना। ज़िन्दगी के लिए एक उलझा हुआ नज़रिया होना। बिना कारण वज़न (weight) का बढ़ना या कम होना। खान पान की आदतों में बदलाव (Change) करना। आत्महत्या के उपाय करना और आत्महत्या के बारे में सोचना। मन की एकाग्रता खोना, मन का एकाग्र न हो पाना आदि अवसाद के लक्षण (Symptoms) होता है। 

  1. थोडा सा काम करने के बाद थकान (Fatigue) महसूस करना।
  2. नीद ठीक तरह से ना आना।
  3. रात को बार - बार जागना।
  4.  पीठ में दर्द रहना।
  5. चिड़चिड़ापन।(Irritability)
  6. काम पर फोकस ना बनना।
  7. बात - बात पर गुस्सा करना।
  8. किसी बुरी बात के होने का डर (fear) रहना (बुरे ख्याल आना)
  9. भोजन ना पचना।
  10. सेक्स में अरूचि आदि। 

अवसाद से निजात के उपाय 

 What is depression? Reasons, Symptoms,

  1. सबसे पहले तो किसी छोटी मोटी परेशानी  को लेकर यह वहम नहीं बनाना चाहिए कि आप अवसादग्रस्त  (Depressed) है। 
  2. अपने काम में मन लगाने की कोशिश करे। 
  3. कुछ समय तक अपनी इच्छाओं को कम कर दें।
  4. अपने आपको जरूरी कामों में व्यस्त रखें। सामाजिक, धार्मिक (Religious) या अन्य कार्यक्रमों में हिस्सा लें। 
  5. अपने लिए कोई बडा लक्ष्य (Aim) बनाएॅ, उसे छोटे - छोटे भागों में बांटे और पूरा करें। 
  6. अच्छे लोगों में मिलना जुलना बढाएं। ड्रामेंबाज और चालाक लोगों से दूर रहें। 
  7. जो लोग आपकों भाव ना दें, उनसे दूर रहें। 
  8. किसी भी बात के लिए जल्दबाजी ना करें और धैर्य रखें।
  9. वासना से दूर रहने की कोशिश करें।
  10.  जिंदगी में किसी चमत्कार होने की सोच ना रखें कि एक दिन कुछ ऐसा होगा और मैं ऐसा बन जाऊॅगा । याद रखें बडा large छोटे - छोटे से  smalls से बनता है।
  11. हमेशा Positive  फिल्में देखें। 

अवसाद से जुडे कुछ तथ्य

 What is depression? Reasons, Symptoms,

  1. WHO की रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान समय में लगभग 35 करोड लोग अवसाद का शिकार हैं। 
  2. महिलाएं पुरूषों के मुकाबले अवसाद की शिकार ज्यादा होती हैं। 
  3. अवसादग्रस्त व्यक्ति को सामान्य से तीन से चार गुणा ज्यादा सपने आते हैं। 
  4. अवसादग्रस्त व्यक्ति जलदी बूढा होने लगता है। 
  5. रिसर्च में पाया गया है कि हसी - मजाक (ड्रामा) करने वाले लोग और कोमेडियन लोग आम लोगों से ज्यादा अवसाद का शिकार होते हैं। भगवान कृष्ण ने भी गीता (Geeta) में कहा है कि अगर कोई व्यक्ति (person)  ज्यादा हस्ता है तो उसका मतलब है कि वह अंदर से अकेला है। 
  6. Depression कोई आजकल की बिमारी नहीं है, यह सदियों से चली आ रही है, पर 21 वीं सदी में इसका प्रभाव पहले से 10 गुणा ज्यादा बढ गया है।
  7. जो लोग इंटरनेट पर ज्यादा फालतु समय (फेसबुक, वाटस्एप) बिताते है वह अक्सर मानसिक (Mental) परेशानियों में रहते हैं।
  8. अमेरिका के महान राष्ट्रपति अब्राहिम लिंकन जीवन में आए दुखों के कारण लंबें समय तक अवसाद (Depression) में रहे, इस समय में वो चाकू - छूरों से दूर रहते थे क्योंकि उन्हें लगता था कि वह खुद को इनसे मार (Kill) ना लें।
  9. फ्रांस के लोग सबसे ज्यादा अवसाद ग्रस्त होते है। एक रिसर्च में पाया गया है कि कहां की 20 फीसदी लोग जीवन में कभी ना कभी अवसाद की अवस्था से जरूर गुजरते हैं। 

परिवार में यदि किसी को अवसाद के लक्षण दो सप्ताह तक दिखाई दें, तो बिना देरी के मनोचिकित्सक (Psychiatrist) या मनोवैज्ञानिक या दोनो की सलाह लेनी चाहिये।