×

कैडबरी चॉकलेट की शुरुआत और सफलता की पूरी कहानी | Cadbury Chocolate Success Story In Hindi

कैडबरी चॉकलेट की शुरुआत और सफलता की पूरी कहानी | Cadbury Chocolate Success Story In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-5 months ago
+

नमस्कार दोस्तों कई बार देखा जाता है की आज के समय में बच्चे और घर के बड़े सदस्य मार्केट में मिलने वाली कई चीजों को खाने से दूर रहते है  सभी को यही कहते है की आज मार्केट में कोई चीज शुद्ध नहीं है लेकिन आज उनके सामने चॉकलेट रख दी जाएं तो ऐसे कुछ ही लोग होंगे जो इसे खाने से मना करेंगे चॉकलेट की बनवाट और उसके स्वाद को आज कोई मिस नहीं करना चाहता दोस्तों जब हम आज चॉकलेट की बात कर ही रहे है तो हमारे दिमाग में सबसे पहले ख्याल आता है कैडबरी चॉकलेट का दोस्तों आज मार्केट में चॉकलेट से जुड़े कई ब्रांड आ चुकें है लेकिन जो स्वाद कैडबरी का है वो उनमे कहा हम बात करे डेयरी मिल्क फाइव स्टार या फिर जेम्स आज मार्केट में इसका मुकाबला करने के लिए कोई भी ने कंपनी आस पास भी नहीं है दोस्तों जिस तरह कैडबरी का स्वाद है उसी तरह इसकी सफलता की कहानी भी उतनी ही मजेदार है तो चलिए दोस्तों जहां जानते है लोगो को अपने स्वाद से लुभाने वाली कैडबरी शुरुआत होने से सफल होने का पूरा सफर.

दोस्तों इस पूरी की कहानी की शुरुआत होती है जॉन कैडबरी नाम के एक बच्चे से जिसका जन्म 12 अगस्त 1801 पहले ब्रिटैन के बिर्मिंघम शहर में हुआ था जान का जन्म ऐसे समाज में हुआ जहां सभी एक पोकर धर्म से जुड़े हुए थे और दोस्तों इस धर्म को अपनाने वालो लोगो की अपनी अलग ही मान्यताएं थी ये धर्म के लिए किसी भी चर्च या धार्मिक स्थान से नहीं जुड़े हुए थे ये लोग अपने ईश्वर के साथ किसी भी धर्मिक स्थान को नहीं जोड़ते थे धर्म की इस अलग परंपरा के चलते उन्हें समाज में एक अलग नजर से देखा जाता था और यही कारण था की अपने धर्म रीतियों के चलते उन्हें ना तो अच्छे स्कुल में दाखिला मिलता ना ही कोई अच्छी नोकरी और ना ही सेना में भर्ती होने दिया जाता था ऐसी स्थिति में इन लोगो के पास एक ही उपाय था खुद का कुछ कार्य करने का इन परिस्थियों के कारण जॉन कैडबरी ने अपने धर्म के स्कुल से शिक्षा प्राप्त करने के बाद खुद के खर्च के लिए एक कॉफी शॉप पर काम करने लग गए

Cadbury Chocolate Success Story In Hindi

Source blogs.lse.ac.uk

दुकान पर काम करते करते उन्होंने कुछ पैसे बचा कर साल 1824 में खुद की दुकान खोल ली और अपनी इस शॉप पर जॉन कैडबरी चाय के साथ कॉफी और चॉकलेट ड्रिंक बेचा करते थे कुछ सालो तक दुकान पर कार्य करते हुए जॉन को इस बात का अहसास हुआ की उनकी दुकान पर लोग चाय और कॉफी से ज्यादा चॉकलेट ड्रिंक को ज्यादा पसंद कर रहे है और तब जॉन ने 1831 में अपनी शॉप से चाय और कॉफी को बंद कर चॉकलेट ड्रिंक पर ज्यादा ध्यान देना शुरू कर दिया उनके इस फैसले से उन्हें सफलता की सुगंध आना शुरू हो गई लोगो की चॉकलेट ड्रिंक की मांग बढ़ने लगी तब जॉन ने लोगो को आकर्षित करने के लिए चॉकलेट ड्रिंक का स्वाद बढ़ाने के लिए अपने मेन्यू में 16 तरीके के नये कोल्ड ड्रिंक वेरायटी अपने मेन्यू के साथ ऐड कर दी

उनका यह प्लान काफी सफल हुआ और 15 साल में उनकी स्पेशल कैडबरी चॉकलेट ड्रिंक अपने आप आस के सभी इलाको में फेमस हो गई और वो लोगो की पहली चॉकलेट कोल्ड ड्रिंक के रूप में लोकप्रिय हो गई अपने बढ़ते कार्य के कारण जॉन ने साल 1847 अपने भाई बेंजामिन को भी अपने इस कार्य के लिए साथ जोड़ लिया तब दोनों भाइयो ने अपनी इस दुकान को एक बड़ा रूप देने के बारे में विचार किया और उन्होंने मिलकर ब्रिज स्ट्रीट में पहली बार एक बड़ा कारखाना खोला

Cadbury Chocolate Success Story In Hindiimage source

दोस्तों कैडबरी अपनी शुरुआत से ही अपने टेस्ट के लिए जानी जाती थी यही वजह की साल 1854 में इंग्लैंड की महारानी विक्टोरिया ने कैडबरी को रॉयल वारंट का सर्टिफिकेट दिया था दोस्तों आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए की रॉयल वारंट उन्हीं बेस्ट उत्पादकों को मिलता था जिसकी क्वालिटी काफी अच्छी होती थी और लोग उसे काफी ज्यादा पसंद करते थे और उन उत्पादकों को राजा महाराजा भी इस्तेमाल में ले सकते थे तब कैडबरी अपने स्वाद और बढ़िया क़्वालिटी के कारण पुरे ब्रिटेन में फेमस हो गई लेकिन साल 1860 में दोनों भाइयो के बीच व्यापार में कुछ मतभेद होने के कारण बेंजामिन ने जॉन कैडबरी से अलग होने का फैसला ले लिया जॉन भी अपनी उम्र के अंतिम दौर में चल रहे थे उन्होंने अपने इस व्यापार की कमान अपने दोनों पुत्र रिचर्ड और जार्ज को दे दी

दोस्तों आज अपने उत्पाद को हमेशा लोगो के बीच बनाये रखने के लिए आज सबसे जरुरी है अपने कार्य में समय के साथ बदलाव और ये काम जार्ज और रिचर्ड ने कैडबरी में आने के बाद किये दोनों भाई समय के साथ कैडबरी में किये गए अपने सभी बदलावों में काफी सफल हुए पुरे ब्रिट्रेन के लोगो के बीच सफल होने के बाद साल 1870 में उन्होंने अपने इस प्रोडक्ट को दुनिया के बाकि देशो में भी भेजना शुरू कर दिया इसी बीच कैडबरी की शुरुआत को एक मजबूत नींव देने वाले जॉन कैडबरी का 11 मई 1879 निधन हो गया और कैडबरी के लिए दुःख की बात थी की अगले 10 में कैडबरी को एक नया आयाम देने वाले रिचर्ड की भी मृत्यु हो गई और तब पूरी कंपनी को चलाने का जिम्मा जार्ज कैडबरी के कंधो पर आ गया

Cadbury Chocolate Success Story In HindiSource www.treacle.media

दोस्तों अपनी इस स्थिति को समझते हुए जार्ज आगे बढ़ते गए और अपने रिटायमेंट के दौर में कंपनी के लिए ऐसी खोज कर गए जिसने कैडबरी को एक अलग आयाम दे दिया दोस्तों जॉर्ज ने साल 1905 आज की फेमस कैडबरी डेयरी मिल्क चॉकलेट का उत्पाद शुरू किया और अपने इस मिशन पर जार्ज 1857 से ही रिसर्च में लगे हुए थे अपनी डार्क चॉकलेट के साथ जार्ज उसमे कुछ नया जोड़ने में लगे हुए थे और तब उन्होंने चॉकलेट पॉउडर में चीनी और दूध मिक्स किया और जब इन तीनो मिश्रणो को टेस्ट किया गया तब इसका स्वाद काफी अलग था और इसमें बदलाव करते हुए इस मिश्रण को सूखा कर टेस्ट किया गया तब इसका टेस्ट और काफी शानदार था और दोस्तों इसी तरह दुनिया के सामने कैडबरी चॉकलेट बनी और आज मार्केट में कैडबरी के सभी प्रोडक्ट में सबसे अलग है दोस्तों आज कैडबरी सफलता की उन ऊंचाइयों पर है की वो आज 50 से अधिक देशो में अपने इस व्यापर को चला रहा है.

Read More - 6 डॉलर पहली कमाई करने वाले सबवे(Subway) रेस्टोरेंट की पूरी कहानी