×

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जीवन परिचय | Kamal Nath Biography In Hindi

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जीवन परिचय | Kamal Nath Biography In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-8 months ago
+

इंदिरा गाँधी के तीसरे बेटे के नाम से पुकारे जाने वाले मध्यप्रदेश के 18 वें CM कमलनाथ का जीवन परिचय | Madhya Pradesh CM Kamal Nath In Hindi

  • पूरा नाम - कमल नाथ
  • जन्म दिनांक - 18 नवंबर 1946 (72 साल)
  • जन्म स्थान - कानपूर
  • पिता का नाम - महेंद्र नाथ
  • माता का नाम - लीला नाथ
  • पत्नी का नाम - अल्का नाथ (1973 में विवाह )
  • संतान के नाम - नकुल नाथ बकुल नाथ (दोनों पुत्र)
  • जीवन पेशा - राजनेता (मध्य प्रदेश ) के 18 वें मुख्यमंत्री
  • शिक्षा- दून स्कूल, देहरादून (शुरुआती शिक्षा )

हाल ही में मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव संपन्न हुए है। लगातार 15 साल से मध्यप्रदेश पर राज कर रही बीजेपी सरकार को इस बार हार का सामना करना पड़ा इस जीत के साथ कांग्रेस पार्टी ने कमलनाथ को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री चेहरा बनाया कमलनाथ आज मध्यप्रदेश के 18 वे मुख्यमंत्री (Chief Minister Of MP) बन गए है। कमलनाथ ने इन 15 साल में सत्ता विरोधी पार्टी के खिलाफ जमकर संघर्ष किया उनकी मेहनत का ही नतीजा था की 2018 विधानसभा चुनाव में बीजेपी की 15 से चली आ रही सरकार को उखाड़ फेंका कमलनाथ को गाँधी परिवार का करीबी माना जाता है और गाँधी परिवार के करीब रहकर ही कमलनाथ ने राजनीति के दांव पेंच सीखे. तो चलिए दोस्तों इनके जीवन के बारे में और अधिक जानते है.

कमलनाथ का शुरुआती जीवन | Early Life of CM Kamal Nath

Kamal Nath Biography

image source

अपने जीवन में हर कठिन रास्तो से गुजरने वाले कमल नाथ का जन्म 18 नवंबर 1946 को उत्तर प्रदेश राज्य के कानपूर में हुआ था। इनके पिता का नाम महेंद्र नाथ और माता का नाम लीला नाथ था। कमल नाथ का जन्म एक आर्थिक रूप से पूर्ण सक्षम परिवार में हुआ था। कमल नाथ के दादा केदार नाथ के गहनों का बड़ा कारोबार था इतना बड़ा कारोबार होने के बावजूद इनके परिवार में किसी भी व्यक्ति ने राजनीति की और रुख नहीं किया कमलनाथ के जन्म के कुछ सालो के बाद ही इनका पूरा परिवार उत्तर प्रदेश को छोड़कर कोलकाता में बस गया। कमलनाथ के दादा केदार नाथ ने बरेली जिले के गांव अतरछेड़ी में एक हवेली का निर्माण किया था जो आज भी वहां मौजूद है.

अतरछेड़ी गांव में इनकी दादी को डॉक्टरनी के नाम से जाना जाता था । जब कमलनाथ के पिता और दादा अपने कारोबार को संभालने के लिए बाहर चले गए थे तब इनकी दादी यहीं रहती थी। लेकिन जब इनका कारोबार कोलकाता में स्थापित हुआ तब पूरा परिवार गांव छोड़कर वहां चला गया.

कमलनाथ की शिक्षा | CM Kamal Nath Education

Kamal Nath Biography

image source

अपने परिवार के आर्थिक रूप से सम्पन्न होने कारण कमलनाथ की शुरुआती शिक्षा देहरादून के जाने माने दून स्कूल से हुई। दोस्तों इसी स्कूल में गाँधी परिवार के राजीव गाँधी और संजय गाँधी ने अपनी शुरुआती शिक्षा प्राप्त की थी। स्कूल के समय संजय गाँधी और कमलनाथ आपस में काफी अच्छे मित्र थे। इनकी इसी मित्रता को देखकर आज लोग कमलनाथ को इंदिरा गाँधी का तीसरा पुत्र कहकर भी पुकारते है.


अपनी स्कूली शिक्षा पूर्ण होने के बाद कमलनाथ ने कोलकाता के सेंट जेवियर कॉलेज से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की. ग्रेजुएशन की डिग्री करना तो कमलनाथ के लिए नाम मात्र थी यही से ही उन्होंने राजनीति को अपना करियर बना लिया.

इंदिरा गाँधी के बेटे संजय गाँधी से दोस्ती | Friendships of Sanjay Gandhi and Kamal Nath

Kamal Nath Biography

कमलनाथ और संजय गाँधी की दोस्ती  की शुरुआत स्कूल से  हुई और वो आगे भी चली कमलनाथ इंदिरा गाँधी के बेटे संजय गाँधी की परछाई की तरह हमेशा उनके साथ रहते थे । जब संजय गाँधी ने राजनीति में कदम रखा तब उन्हें कई जगहों पर रैली में शामिल होने के लिए जाना पड़ता था कमलनाथ उनकी हर रैली में मौजूद रहते थे। और अपनी दोस्ती की कई बार उपयोगिता भी साबित की साल 1980 में असमय संजय गाँधी का निधन हो जाने के बाद कमलनाथ ने अपने कार्य से इंदिरा गाँधी को प्रभावित किया. इसी वजह से वो हमेशा के लिए गाँधी परिवार का अटूट हिस्सा बन गए.

कमलनाथ का राजनीति में सफर | Kamal Nath Politics Journey

Kamal Nath Biography

image source

गाँधी परिवार से रिश्ते अच्छे होने के कारण कमलनाथ ने इंदिरा गाँधी के कहने पर पहली बार अपना चुनाव 1979 में छिंदवाडा से सासंद की सीट के लिए लड़ा. अपने पहले चुनाव में जनता ने उन्हें भारी मतों से विजयी बनाया 34 साल की उम्र में कमलनाथ छिंदवाड़ा जिले के प्रथम बार सासंद बने इस जीत को दोहराते हुए कमलनाथ कुल 9 बार यहां से सासंद बन चुके है (1984, 1990, 1991, 1998, 1999, 2004, 2009, 2014 )

साल 1996 में कमल नाथ का हवाला कांड में नाम आने के कारण उन्होंने उस साल चुनाव नहीं लड़ा और अपनी पत्नी अल्का को छिंदवाड़ा से चुनाव लड़ाया और वो जीती भी 1 साल बाद हवाला केस से बरी होने के बाद उन्होंने अपनी पत्नी से इस्तीफा दिलाया और दुबारा चुनाव लड़ा लेकिन इस बार कमल नाथ को भाजपा के  सुंदरलाल पटवा ने उन्हें हरा दिया.

कमल नाथ को मंत्री पद | Kamal Nath to Minister Post

  1. साल 1991 से 1994 तक केंद्रीय वन और  पर्यावरण मंत्री रहे.
  2. साल 1995 से 1996 तक कपड़ा मंत्री रहे.
  3. साल 2004 से 2008 तक केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री रहे.
  4. साल 2009 से 2011 तक केंद्रीय सड़क एवं  परिवहन मंत्री का पद संभाला
  5. साल 2000-2018 राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव रहे.
  6. वर्तमान में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री है 

कमल नाथ को शिक्षा के क्षेत्र में प्रमुख पद

  1. इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी बोर्ड ऑफ गवर्नमेंट गाजियाबाद (Institute of Management Technology Board of Government Ghaziabad)
  2. इंस्टीट्यूट ऑफ इंडोलॉजी नई दिल्ली साहिबाबाद (Institute of Indology New Delhi Sahibabad)
  3. लाजपत राय पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज गाजियाबाद (Lajpat Rai Post Graduate College Ghaziabad)

राजनीति के साथ है एक अच्छे लेखक | Name of Kamal Nath Poem

राजनीति में दांव पेंच करने वाले कमल नाथ एक अच्छे लेखक भी है कमल नाथ को वाणिज्य के विषय पर लिखना काफी पसंद है कमल के द्वारा लिखी गई "भारत की शताब्दी एवं व्यापार निवेश उद्योग" किताब प्रकाशित की जा चुकी है.

कमलनाथ को मिले प्रमुख सम्मान | Kamal Nath Receives Major Honors

Kamal Nath Biography

image source

  1. साल 2006 में जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय ने कमलनाथ को डाइरेक्टर की उपाधि दे कर उनका सम्मान किया.
  2. कमल नाथ को साल 1972 में बांग्लादेश की आजादी योगदान के लिए बांग्लादेश के प्रधानमंत्री शेख मुजीबुर्रहमान ने उन्हें  प्रशस्ति देकर सम्मानित किया.
  3. साल 1991 में हुए पृथ्वी सम्मेलन रियो डी जेनेरियो भारत देश का कुशल नेतृत्व करने के लिए कमल नाथ को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया.
  4. साल 1999 में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के द्वारा कमल नाथ को आमंत्रण व्याख्यान मिला.
  5. साल 2008 में इकोनोमिक टाइम्स के द्वारा कमल नाथ को "रिफार्म ऑफ़ द ईयर" से सम्मानित किया गया.

कमलनाथ की कुल संपत्ति | Kamal Nath Total Assets Details

दोस्तों कमलनाथ की गिनती आज देश के 5  सबसे अमीर राजनेताओ में की जाती है. साल 2011 में कमलनाथ ने अपनी संपत्ति की जानकारी दुनिया के सामने पेश की इसमें उनके पास 273 करोड़ रूपए और 23 से भी अधिक कंपनियों के मालिक थे। इन कंपनियों का सारा कारोबार उनकी पत्नी अल्का और उनके दोनों बेटे नकुल नाथ व बकुल नाथ साथ मिलकर चलाते है.