×

नालंदा यूनिवर्सिटी के 15 रहस्य | Nalanda University Mystery and Facts In Hindi

नालंदा यूनिवर्सिटी के 15 रहस्य | Nalanda University Mystery and Facts In Hindi

In : News By storytimes About :-1 year ago
+

दुनिया की सबसे पुरानी यूनिवर्सिटी नालंदा यूनिवर्सिटी के 15 रहस्य | Nalanda University Mystery and Facts In Hindi


दुनिया की सबसे पुरानी यूनिवर्सिटी नालंदा यूनिवर्सिटी है इस यूनिवर्सिटी की स्थपना 450 ई. में हुई थी। नालंदा यूनिवर्सिटी प्राचीन भारत की सबसे उच्च शिक्षा प्राप्त कराने वाली यूनिवर्सिटी थी नालंदा यूनिवर्सिटी शिक्षा के क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण और विख्यात केन्द्र माना गया है। पटना से 90 किलोमीटर दूर और बिहार से 12 किलोमीटर दक्षिण में दुनिया की सबसे प्राचीन यूनिवर्सिटी के खंडहर स्थित है। आइये जानते है दुनिया की सबसे प्राचीन यूनिवर्सिटी के कुछ रोचक तथ्य :-

Nalanda University Mystery and Facts

via

नालंदा यूनिवर्सिटी के बारे में 15 रोचक तथ्य :-


1. तक्षशिला के बाद नांलदा को दुनिया की सबसे प्राचीन यूनिवर्सिटी माना जाता है। ये 800 साल तक अस्तित्व में रही।

2. नालंदा यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों का चयन मेरिट के आधार पर किया जाता था और विद्यार्थियों को नि:शुल्क शिक्षा दी जाती थी। साथ ही विद्यार्थियों का रहना व खाना भी नि:शुल्क ही दिया जाता था।

3. नालंदा यूनिवर्सिटी के पुस्तकालय का नाम धर्म गूंज था। इसका मतलब सत्य का पार्वत से था। पुस्तकालय की 9 मंजिल थी इन 9 मंजिलो के 3 भागा थे जिनके नाम‘रत्नरंजक’,‘रत्नोदधि’, और ‘रत्नसागर’ थे। 

4. नालंदा यूनिवर्सिटी में लेवल भारत के ही नहीं बल्कि कोरिया, जापान, चीन, तिब्बत, इंडोनेशिया, ईरान, ग्रीस, मंगोलिया आदि देश के विद्यार्थी पढ़ाई करते थे।

5. नालंदा यूनिवर्सिटी में हषवर्धन, धर्मपाल, वसुबन्धु, धर्मकीर्ति, आर्यवेद, नागार्जुन के साथ कई अन्य विद्वानों ने पढ़ाई की थी।

6.  नालंदा यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में हजारों किताबों के साथ 90 लाख पांडुलिपियां रखी हुई है। यहां पर बख्तियार खिलजी ने आक्रमण कर आग लगा दी थी जिसे बुझाने में 6 महीने से ज्यादा का वक़्त लगा था

7. 1.5 लाख वर्ग फीट में  नालंदा यूनिवर्सिटी के अवशेष प्रप्ता हुए है ऐसा माना जाता है की ये यूनिवर्सिटी का 10%  हिस्सा है 

8. उस दौर में यहां लिटरेचर, एस्ट्रोलॉजी, साइकोलॉजी, लॉ, एस्ट्रोनॉमी, साइंस, वारफेयर, इतिहास, मैथ्स, आर्किटेक्टर, भाषा विज्ञानं, इकोनॉमिक, मेडिसिन समेत कई विषय पढ़ाएं जाते थे।

10. नालंदा यूनिवर्सिटी का इतिहास चीन के हेनसांग और इत्सिंग ने खोजा था। ये दोनों 7वीं शताब्दी में भारत आए थे। इन दोनों ने इसे दुनिया की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी भी बताया था।

11.यूनिवर्सिटी में लोकतान्त्रिक प्रणाली थी। कोई भी फैसला सभी की सहमति से लिया जाता था। यानि सन्यासियों के साथ टीचर्स और स्टूडेंट्स भी राय देते थे। 

12.  नालंदा शब्द संस्कृत के तीन शब्द ‘ना +आलम +दा’ के संधि-विच्छेद से बना है। इसका अर्थ ‘ज्ञान रूपी उपहार पर कोई प्रतिबंध न रखना’ से है।

13 .नालंदा की तर्ज पर नई नालंदा यूनिवर्सिटी बिहार के राजगिर में बनाई गई है। इसे 25 नवंबर, 2010 को स्थापित किया गया।

14.नालंदा यूनिवर्सिटी की स्थापना 5वीं शताब्दी में गुप्त वंश के शासक सम्राट कुमारगुप्त ने की थी। नालंदा में ऐसी कई मुद्राएं भी मिली है जिससे इस बात की पुष्टि भी होती है।

15. यहां छात्रों के रहने के लिए 300  कक्ष बने थे, जिनमें अकेले या एक से अधिक छात्रों के रहने की व्यवस्था थी। एक या दो भिक्षु छात्र एक कमरे में रहते थे। कमरे छात्रों को प्रत्येक वर्ष उनकी अग्रिमता के आधार पर दिये जाते थे। इसका प्रबंधन स्वयं छात्रों द्वारा छात्र संघ के माध्यम से किया जाता था।