भगवान शिव की अद्भुत कविताएँ | Top HD wallpapers And Poems Of Lord Shiva

भगवान शिव की अद्भुत कविताएँ | Top HD wallpapers And Poems Of Lord Shiva

In : News By storytimes About :-1 year ago
+

ये है भगवान शिव को खुश करने का खास मंत्र एवं अद्भुत कविताएँ | Top Poems Of Lord Shiva in Hindi

#1

"वह भोला है, वह विकराल है,
वह त्रिनेत्र त्रिशूलधारी महाकाल है,
जिसके कण्ठों ने विषपान किया,
गंगा को जिसकी जटाओं ने बांधा,"

Source

"वो देवों का देव ‘महादेव’ भी है,
पिशाचों ने भी जिसको अपना प्रभु माना,
मृगछाल ओढ़े है जो बैरागी,
सर्प जिसका सृंगार है,
वह त्रिनेत्र त्रिशूलधारी महाकाल है।"

 

"वो सृजनकर्ता भी है,
वो संहारकारी भी है,
जो शीतल और सुशांत है और"

 

"जिसका तांडव प्रलयकारी भी है,
वो निराकार भी है, वह ओंकार है,
वह त्रिनेत्र त्रिशूलधारी महाकाल है।"
– जया पांडे

#2

"नंदीगण नतमस्तक सम्मुख,

नीलकंठ पर शोभित विषधर।

मूषक संग गजानन बैठे,

कार्तिकेय संग मोर खड़े॥"

Source

"सत्य ही शिव है, शिव ही सुंदर.

सुंदरता चहुंओर भरे..

अंतरमन से तुझे पुकारूं...

हर हर हर महादेव हरे........."

 

"पीड़ित जन हम युगों युगों से

आकर तेरे द्वार खड़े

जितना भोला मुखमंडल है

उतना तीखा भाला है"

 

"सुना है तूने, राम कृष्ण के

उतर धरा, दुखः दूर करे..........

सत्य ही शिव है, शिव ही सुंदर.

सुंदरता चहुंओर भरे.."

 

"अंतरमन से तुझे पुकारूं...

हर हर हर महादेव हरे.........

जन जन के हृदय में बसे हो,

पशु पक्षी के प्राणनाथ हो।"

 

"शत-शत नमन त्रिलोकी तुमको

जय जय जय पशुपतिनाथ हरे॥

सत्य ही शिव है, शिव ही सुंदर.

सुंदरता चहुंओर भरे..

अंतरमन से तुझे पुकारूं...

हर हर हर महादेव हरे........."

भगवान शिव की अद्भुत कविताएँ | Top HD wallpapers And Poems Of Lord Shiva