×

करोड़ो के पैकेज वाली कंपनी छोड़ इस लड़की ने खोला खुद का कंस्ट्रक्शन स्टार्टअप | Priyanka Gupta in Hindi

करोड़ो के पैकेज वाली कंपनी छोड़ इस लड़की ने खोला खुद का कंस्ट्रक्शन स्टार्टअप | Priyanka Gupta in Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-8 months ago
+

इनफ़ोसिस एचडीएफसी लाइफ जैसी बड़ी कंपनियों की नौकरी छोड़ शुरू किया ये स्टार्टअप | Priyanka Gupta Brick and Mortar Founder Story In Hindi

नमस्कार दोस्तों हमारे लेख में एक बार फिर आपका स्वागत है कंस्ट्रक्शन का नाम मतलब ठेकेदारी सभी लोग इस कार्य को यही समझते आये है की जिस व्यक्ति को कोई अन्य कार्य नहीं आता वो ठेकेदार बन जाता है। लेकिन दोस्तों एक ऐसी भी शख्सियत है जिसने इन सब विचारो को गलत साबित कर दिया जब इन्होंने देश की जानी मानी कंपनी इनफ़ोसिस को छोड़ कंस्ट्रक्शन के बिजनेस की शुरुआत की ये कहानी है मध्य प्रदेश भोपाल की रहने वाली प्रियंका गुप्ता  (Priyanka Gupta) की.  प्रियंका गुप्ता की जीवन कहानी काफी रोचक है इतनी बड़ी कंपनी को छोड़ प्रियंका ने खुद का एक कंस्ट्रक्शन स्टार्टअप खोला और इसका नाम रखा "ब्रिक्स एंड मोर्टार"(Brick and Mortar) तो चलिये दोस्तों प्रियंका गुप्ता की इस कहानी के बारे में और अधिक जानते है.

कर चुकी है बड़ी कंपनियों में काम

दोस्तों प्रियंका गुप्ता झीलों की नगरी भोपाल की रहने वाली है। प्रियंका के पिता एक बड़े कारोबारी थे इस कारण घर में कभी पैसो की कमी नहीं थी। बी.टेक की डिग्री होने के बाद प्रियंका ने जेविअर इंस्टिट्यूट भुवनेश्वर एमबीए (MBA) की. अपनी पढ़ाई पूरी होने के बाद प्रियंका ने अपनी पहली नौकरी एचडीएफसी लाइफ (HDFC Life) कंपनी में की यहां प्रियंका ने पुरे एक साल तक काम किया इस कंपनी में प्रियंका के अंडर में दस से ज्यादा ब्रांच थी.

इस कंपनी को छोड़ने के बाद प्रियंका ने इनफ़ोसिस कंपनी में जॉब करना शुरू दिया यहां वो परफॉरमेंस मैनेजमेंट सिस्टम के पद पर कार्य करने लगी। प्रियंका के जीवन में किसी भी चीज की कमी नहीं थी ना पैसो की , और शानदार नौकरी उनके जीवन में सब कुछ सेट था लेकिन प्रियंका के मन में एक कसक थी  जो अभी भी बाकि थी.

प्रियंका ने बताया की जिस क्षेत्र से उन्होंने पढ़ाई की थी वो उनके लिए कुछ काम नहीं आ रही थी तब उन्होंने कुछ बदलाव लाने के बारे में सोचा प्रियंका ने सोचा की क्यों ना एक खुद का स्टार्टअप शुरू किया जाये जिस बिजनेस में जाने से लोग क्रिएटिव हो जाते है एवं एक अच्छी जिंदगी जीते हो.

प्रियंका का एक विचार था की वो कभी भी परंपरागत स्टार्टअप को नहीं चुनेंगी उन्होंने सोचा की वेडिंग प्लानर, फोटोग्राफी और फ़ूड आदि के बिजनेस में कोई मतलब नहीं है। प्रियंका एक ऐसा बिजनेस करना चाहती थी जिससे उनको सीधे तोर पर फायदा हो तब उनके में में कंस्ट्रक्शन लाइन में जाने का विचार आया.

इस तरह मिला विचार

प्रियंका ने बताया की "उन्हें लगा की कंस्ट्रक्शन काफी पैसे वाला बिज़नेस है । लेकिन इस क्षेत्र में हमेशा बढ़िया कार्य करने वालो की कमी रही है। और इस क्षेत्र में कोई प्रोफेशनल व्यक्ति आने के बारे में सोचता भी नहीं था। कंस्ट्रक्शन बिज़नेस में अनपढ़ और अशिक्षित लोग कार्य को सही से नहीं करते लेकिन प्रियंका ने सोचा इन लोगो से बेहतर काम करवाया जा सकता है। और इसी विचार के साथ उन्होंने अपनी खुद की एक कंपनी बनाई और उसको नाम रखा  "ब्रिक्स एंड मोर्टार" -Brick and Mortar

पिता को बताया अपने आईडिया के बारे में

जैसे हमने पहले भी कई सक्सेस स्टोरी में पढ़ा है की हर बिज़नेस की शुरुआत एक कोने से होती है उसी प्रकार प्रियंका के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। प्रियंका ने इस बिज़नेस का आईडिया अपने पिता को बताया उनका ये विचार सुन उनके पिता काफी खुश हुए और अपने ही ऑफिस के एक रूम में उन्हें अपना बिज़नेस शुरू करने के लिए बोल दिया वहीं से ही प्रियंका ने अपने बिज़नेस की शुरुआत कर दी.

प्रियंका अपने इस काम को नये और स्मार्ट तरीके से करना चाहती थी इस लिए उन्होंने अपने कार्य के लिए कई नई मशीनों का सहारा लेना शुरू किया प्रियंका का मानना था की जो कार्य मशीन से बेहतर और कम समय में किया जा सकता है उसके लिए ज्यादा व्यक्तियों को लगाने की क्या जरुरत है.

अब काम करते हुए लगता है अच्छा

प्रियंका के पास आज इस काम से जुडी सभी आधुनिक मशीने है। अपने इस बिज़नेस शुरुआत के बात प्रियंका को भोपाल शहर से कई प्रोजेक्ट मिले जिन पर वो आज काम कर रही है। प्रियंका ने कहा की देश में आज भी लोग उतने जागरूक  नहीं है वो कंस्ट्रक्शन से जुड़े सभी कार्यो को आज भी लेबर का कार्य समझते है.

दोस्तों प्रियंका की कहानी में हम सभी को एक सीख मिलती है की जीवन में पैसा ही सब कुछ नहीं होता आप जिस क्षेत्र में काम कर रहे उससे उस मन को खुशी मिलती चाहिये और दोस्तों अपने काम के प्रति उस खुशी से आप कई पैसे कमा सकते है।