×

Quikr को सफल बनाने वाले प्रणय चुलेट की सफलता की कहानी | Quikr Success Story In Hindi

Quikr को सफल बनाने वाले प्रणय चुलेट की सफलता की कहानी | Quikr Success Story In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-5 months ago
+

देश में पहला फ्री विज्ञापन की शुरुआत करने वाला क्विकर की सफलता की कहानी |  Quikr CEO Pranay Chulet Success Story In Hindi

एक समय वो भी था जब लोगो को अपना कोई विज्ञापन देने के लिए अखबारों के दफ्तर में जाना पड़ता था और विज्ञापन के लिए लिए कई पैसे भी खर्च करने पड़ते थे लेकिन दोस्तों एक शख्स ऐसा था जो कुछ अलग करने वाला था जो लोगो को लोकल क्लासीफाइड विज्ञापन ऑनलाइन देने वाला था वो भी बिलकुल फ्री अब है ना एक हट के सोच.

दोस्तों वो शख्स है प्रणय चुलेट है जिन्होंने बिजनेस की दुनिया में काफी नाम कमाया है विज्ञापन के इस बड़े कदम ने लोगो के लिए ऑनलाइन विज्ञापन देने का एक शानदार प्लेटफार्म तैयार कर दिया दोस्तों प्रणय ने इस प्लेटफार्म को Quikr.com का नाम दिया. जो आज विज्ञापन क्षेत्र में लोगो के बीच काफी चर्चित है.

Quikr Success Story In Hindi​​​​​​

Source media.glassdoor.com

इस प्लेटफार्म के माध्यम से लोग अपने घर में बैठे-बैठे घर या किसी भी सामान को ऑनलाइन बेचने व खरीदने या फिर किसी जॉब एप्लीकेशन आदि के विज्ञापन बड़ी आसानी से दे सकते है. वो भी बिलकुल फ्री और आपका विज्ञापन कुछ ही समय बाद क्लासीफाइड लिस्ट में शो होने लग जायेगा.


दोस्तों आज Quikr.com का नाम सभी लोग जानते है और जब भी कोई सामान खरीदना या बेचना हो तो सीधा क्विकर की और रुख करते है इस पुरे प्लेटफार्म को तैयार करने का श्रेय फाउंडर प्रणय चुलेट को जाता है दोस्तों जब प्रणय ने इस प्लेटफॉर्म की शुरुआत की तब लोगो को वर्चुअल और ऑफलाइन लेन-देन का एक प्लेटफॉर्म तैयार करने के बारे में सोचा था तो चलिए दोस्तों प्रणय चुलेट के इस सफर के बारे में जानते है.

आज भारत में सबसे बड़ा ऑनलाइन क्लासिफाइड पोर्टल Quikr को सफलता की सीढ़ियां चढ़ाने में इसके फाउंडर प्रणय चुलेट का सबसे अहम रोल है. आज उनकी काम के प्रति मेहनत और लगन से ही भारत में Quikr देश का सबसे बड़ा ऑनलाइन क्लासिफाइड वेबसाइट बनी है.

दोस्तों प्रणय चुलेट का जन्म राजस्थान की सस्कृति में हुआ इनका जन्म एक मध्यम परिवार में हुआ इनके पिता एक सरकारी पद पर कार्यरत है और माताजी एक ग्रहणी है अपनी शुरुआती शिक्षा प्रणय ने राजस्थान से ही की और बाद में उनका चयन IIT दिल्ली में हो गया. यहां से प्रणय ने केमिकल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की बाद में वो कोलकता से IIM MBA करने चले गए.

अपनी पढ़ाई को पूर्ण करने के बाद प्रणय को "प्रोक्टर एंड गैम्बल" से जॉब ऑफर आया और प्रणय ने अपनी पहली जॉब को हा करते हुए इसे ज्वाइन कर लिया लेकिन ये जॉब प्रणय को ज्यादा दिन रास नहीं आयी और उन्होंने ये जॉब छोड़ दी बाद में "Mitchell Madison group " में इंगेजमेंट मैनेजर के रूप में जोइनिंग ले ली.

Quikr Success Story In Hindi

Source laughingcolours.com

प्रणय अब कुछ अलग करने के बारे में सोचने लगे और साल 2000 में प्रणय ने खुद के प्लेटफार्म "Reference check" की शुरुआत की. ये प्लेटफार्म मुख्य तौर पर सेलर और ग्राहक को जोड़ने के उद्देश्य से तैयार किया गया था। लेकिन बाद में ये वॉकर डिजिटल में बदल गया और इसने कई बड़ी कंपनियों के साथ काम किया "प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स" और बूज "एलेन हैमिल्टन " प्रमुख है.


इसके बाद प्रणय ने 5 साल तक एक  मल्टी नेशनल कंपनी "Multinational corporation " में काम किया और कंपनी से जुड़ने के बाद साल 2007 में प्रणय ने खुद की और कंपनी एक्सेलियर की शुरुआत की ये वेबसाइट लोगो तक वेब आधारित एजुकेशनल प्रोडक्ट्स को विकसित करती थी लेकिन प्रणय को इस कंपनी में ज्यादा सफलता नहीं मिल पाई और 1 साल के बाद ये बंद हो गई.


उस समय प्रणय अमेरिका में एक गेमिंग प्रोजेक्ट पर कार्य कर थे और उस समय उन्हें एक टीम की जरूरत थी।  और इसके लिए परनवा ने अमेरिका की एक वेबसाइट "क्रैगसलिस्ट" की मदद ली. तब प्रणय ने सोचा क्यों ना  "क्रैगसलिस्ट" जैसी वेबसाइट भारत में भी तैयार की जाये.

Quikr Success Story In Hindi

Source smedia2.intoday.in

प्रणय ने इसी सोच के साथ साल 2008 में भारत में "Quikr.com" की शुरुआत की बहुत ही कम समय में क्विकर ने लोगो की बीच जगह बना ली यही कारण है की आज क्विकर देश के 1000 से भी ज्यादा शहरो में अपनी सर्विस दे रही है इस प्लेटफार्म पर लोग अपना सामान बड़ी ही आसानी से खरीद और बेच सकते है इससे लोगो को काफी सुविधा हुई.

आज क्विकर सफलता के इस चरम पर है की यहां लोग  13 केटेगरी और 170 केटैगिरी किसी भी प्रकार का सामान बेच सकते है इसमें टीवी मोबाइल फ्रिज और भी कई सामान है जिनके विज्ञापन आप इस साइट के माध्यम से लोगो दे सकते है आज क्विकर से हर दिन कई लाखों लोग जुड़ते है.

दोस्तों आज युवावस्था में अपने इस सफल स्टार्टअप के कारण प्रणय इस क्षेत्र में जुड़ने वाले लोगो के लिए एक प्रेरणा बन गया है.