×

भारतीय मुद्रा से जुड़े 10 अनसुने रोचक तथ्य | Indian currency Interesting Facts

भारतीय मुद्रा से जुड़े 10 अनसुने रोचक तथ्य | Indian currency Interesting Facts

In : Meri kalam se By storytimes About :-10 months ago
+

भारतीय करेंसी से जुडी रोचक बाते | Indian currency Interesting Facts

दोस्तो भारत में रहने वाला हर व्यक्ति भारतीय नोटो से जुडी कई जानकारी रखता है। फिर भी भारतीय करेंसी के बारे में कुछ बाते ऐसी है। जो कम ही लोग जानते है। इन में नोट में छपे चित्र अंक तस्करी जैसे जुड़े रोचक तथ्य है। आज हम आपको इस पोस्ट में भारतीय नोटो से जुडी कुछ ऐसी ही जानकारी बता रहे है। जिनमे बहुत कुछ छुपा हुआ होता है। लेकिन इन के बारे में कम ही लोग जानते होगे तो चलिऐ हम उन रोचक तथ्यो के बारे में जानते है।

1.

image source

हर नोट पर होती है एक ख़ास तस्वीर हर भारतीय नोट पर इंसानो,जानवरों,प्राकृतिक से लेकर आजदी से आंदोलनो से जुड़ी तस्वीरें छपी हुई है । 20 रु के नोट पर अंडमान आयरलैंड, की तस्वीर है यही 10 रु के नोट पर हाथी, गैंडा,शेेर, छुपा हुआ है जबकी 100 रु नोट पर पहाड़ और बादल की तस्वीर है।

2.

image source

अगर आपके पास फ़टा और ईकावन फीसदी से ज्यादा काटा - फ़टा हुआ नोट है तो आप उसे बैंक में जाकर बदल सकते है। भारतीय रिजर्व बैंक की गाइड लाइन के अनुसार किसी प्रकार का फ़टा पुराना और गन्दा नोट किसी भी बैंक की शाखा में जाकर बदला जा सकता है गाइड लाइन के अनुसार अगर आपका नोट आधे से भी ज्यादा फटा है तो भी आप बैंक में जाकर नया ले सकते है।

3.

बांग्लादेश में ब्लेड बनाने के लिए एक समय पाँच रु की कीमत के सिक्के की तस्करी की जाती थी पाँच रु के एक सिक्के से 6 ब्लेड बनाई जाती थी इस ब्लेड कीमत दो रु थी ऐसे में ब्लेड बनाने वालों को अच्छा - खासा मुनाफ़ा होता था इस को देखते हुये भारतीय सरकार ने सिक्के बनाने में जो मेटल इस्तमाल होता था उसे बदल दिया 2009 में पुलिस ने सिक्कों की खैप को पकड़ा था जिसके बाद इसकी जानकारी मिली थी

4.

image source

अब भले ही एक डॉलर की कीमत 66 रु पहुंच गयी है।लेकिन एक समय ऐसा भी था जब रुपए की कीमत डॉलर से ज्यादा थी 1917 ई में एक रु की कीमत 13 डॉलर क़े बराबर थी

5.

image source

हिन्दी और अंग्रेजी के अलावा भारतीय नोट में 15 भाषाओं का इस्तेमाल होता है कोई भी नोट जैसे 10,20,50,पर हिंदी और अंग्रेजी के साथ असमी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मराठी, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगु और उर्दू में इस की कीमत लिखी हुई होती है हिन्दी और अंग्रेजी का इस्तमाल नोट क़े अगले हिस्से में होता है बाकी भाषाएँ नोट क़े पिछले हिस्से पर लिखी होती है।

6.

image source

हर सिक्के पर एक निशान छपा हुआ होता है जिसको देखकर आपको पता चल जायेगा की यह किस मिन्ट का है सिक्के में छपी तारीख के नीचे एक टूटा डायमंड नज़र आता है ये चिन्ह हैदराबाद मिंट का चिन्ह है हैदराबाद की शुरुआत में अष्टार मार्ग का इस्तमाल किया जाता है। बाद में बदलकर डायमंड सेफ में लाया गया और उन में से कुछ सिक्के में टोटा डायमंड भी शामिल है। नोएडा टकसाल के सिक्के जहां छपाई का वर्ष अंकित किया गया है। उस के ठीक निचे छोटा और ठोस डॉट होता है। इसे सबसे पहले 50 पैसे के सिक्के पर बनाया गया था 1986 ई में इन सिक्को पर ये मार्क अंकित किया जाना शुरू हुआ था इसके अलावा मुंबई और कोलकाता में भी मिंट है।

7.

image source

1938 ई में पहली बार भारतीय रिजर्व बैंक ने दस हजार रु का नोट भारत में छापा था रिजर्व बैंक ने जनवरी 1938 ई में पहली पेपर करेंसी छपी थी जो पांच रु की नोट थी इसी साल 10 रु 100 रु और 1000 रु और 10000 हजार रु के नोट भी छापे गये थे हालांकि 1946 ई में एक हजार और दस हजार के नोट बंद कर दिये गये थे लेकिन 1954 ई में एक बार फिर से 1000 रु और 10000 रु के नोट छापे गये साथ ही 5 हजार रु के नोट की छपाई की गयी थी लेकिन 1978 ई में 10 हजार रु और 5 हजार रु के नोट को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था

8.

image source

एक रु का नोट वित्त मंत्रालय जारी करता है। बाकी सभी नोट जारी करने का अधिकार भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ़ (RBI) INDIA के पास है । इस नोट पर RBI गवर्नर की जगह हाईनेस सेक्रेटरी का हस्ताक्षर होते है।

9.

image source

बीसवीं शताब्दी की शुरआत में अदन, ओमान, कुवैत, बहरीन, कतर, केन्या, युगांडा, सेशल्स और मॉरीशस की भी करंसी थी। हालांकि, अभी भी 7 ऐसे देश है जहां रुपया उनकी करंसी है। इंडोनेशिया, मॉरीशस, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका में रुपया ही चलता है।

10.

image source

नकली नोट की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए नेपाल ने भारतीय 500 और एक हजार रु का नोट पर प्रतिबंध लगा रखा है। इंतना ही नही अगर इन नोट क़े साथ नेपाल में क़ोई पकड़ा जाता है तो उसे दंडित करने का प्रावधान है इसे लेकर भारत और नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर एक नोटिस बोर्ड भी लगाया गया है जिस में ये चेतावनी दी गई है।