×

ताजमहल के हैरान कर देने वाले सच | Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

ताजमहल के हैरान कर देने वाले सच | Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-11 months ago
+

ताजमहल के सबसे ज्यादा रोचक तथ्य | Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

क्या आप ने कभी सुना है ताजमहल अपने अन्दर कितने रहस्यों को समेटे हुए है अगर नहीं सुना तो आज हम आपको बताएंगे ताजमहल के कुछ ऐसे हैरान कर देने वाले रहस्य जो पहले आप ने शायद ही सुने हो |ताजमहल से जुड़ी कुछ ऐसी बाते जो आपको नहीं पता होगी लेकिन अगर आप ताजमहल जा चुके या घूमने का प्लान है तो इन बातो पर भी गौर करीयेगा ये बात तो आपको पता ही होगी की ताजमहल सिर्फ प्यार की निशानी नहीं ये महल दुनिया के लोगो के लिये एक आकर्षण का केन्द्र भी है जो भी इन्सान इस खूबसूरत इमारत को देखता है वह आपने दांतों तले ऊँगली दबाने पर मजबूर हो जाता है|

Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

यही कारण है इस प्यार की निशानी को सात अजूबों में शामिल किया गया है | बरसो पहले बनाई गयी जो निशानी आज तक जिन्दा है वह किस ने बनाई थी ये तो आपको - हमको बखूबी पता है| ऐसी खूबसूरत इमारत जिसे बहुत ही बारीकी और उत्कर्ष कला कृत्यो से बनाया गया है उसे मुग़ल सम्राट शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज़ की याद में बनवाया था लेकिन इसके अलावा और भी कई सारी बाते है जो इस इमारत से जुड़ी हुईं है आज हम आपको इस खूबसूरत इमारत के बारे में ऐसी बाते बताएंगे जो इसकी खूबसूरती और चकाचौंध में नज़र ही नहीं आती तो चलिये जानते है ताजमहल के उन रहस्यों के बारे में -

ताजमहल के बारे मे यह बातें जो आप नहीं जानते | Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

ताजमहल का निर्माण महारानी मुमताज़ की मौत के एक वर्ष बाद 1632 में शुरू किया गया था | वास्तु कला के इस शानदार ताजमहल को बनाने में करीब 22 साल लगे | इस शानदार संरचना के निर्माण में वास्तुकार अहमद लाहोरी थे | इस काम के लिए लाये गए मजदूर, चित्रकार, कड़ाई कलाकार, सुलेख और कई अन्य लोगो सहित 22 हजार से अधिक लोगो और एक हजार हाथियों को लगाया गया था जो संगमरमर को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने काम करते थे|

ताजमहल बनाने मे उस वक्त तीन करोड़ रुपए खर्च हुए थे जो आज के 63 अरब 77 करोड़ रुपए के बराबर है| ताजमहल के मुख्य गुम्बद के चारो और मीनारे है और चारो मीनारे एक दूसरे की और झुकी हुईं है ताकि कभी किसी आपदा के कारण गिरे भी तो मुख्य गुम्बद पर ना गिर कर बाहर की तरफ गिरे बीच की मुख्य गुम्बद को कोई नुकसान नहीं पहुँचे |

Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

ताजमहल के मकबरे की छत पर एक छेद है जिसके पीछे की कहानी ये है की ताजमहल बनाने के बाद शाहजहाँ ने सभी कारीगरो के हाथ काटने का ऐलान दे दिया था क्योंकि शाहजहाँ चाहते थे की ताजमहल जैसी खूबसूरत इमारत दोबारा कभी नहीं बन पाये और शाहजहाँ के इस फैसले से नाराज़ मजदूर ने जानबूझकर कर ताजमहल के मकबरे के बिच मे एक छेद छोड़ दिया था और अगर आप ताजमहल देखने जाये तो जरूर देखे आज भी बरसात के मौसम में उस छेद से पानी टपकता रहता है|

क्या आप जानते हैं की द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ताजमहल को बांस से ढक दिया गया था | यह सत्य है की द्वितीय विश्व युद्ध हुआ तो ताजमहल के पूरे गुम्बद को बांस से ढक दिया गया था ताकि दुश्मन की नज़र उस चमचमाती खूबसूरत इमारत पर नहीं पड़े| सिर्फ यही नहीं बल्कि 1971 में भारत - पाकिस्तान युद्ध और 9 /11 की जैसी घटनाओ के बाद भी ताजमहल को सुरक्षा की दृष्टि से आज भी बांस का घेरा बनाकर उस को ढक दिया जाता है |

शाहजहाँ ने जब पहली बार ताजमहल देखा तो देखते हुए उन्होंने ये कहा ये सिर्फ प्यार की निशानी ही बयां नहीं करेगा बल्कि उनको भी दोष मुक्त करेगा जो इस पावन धरा पर पांव रखेगे और इसकी गवाही चाँद तारे भी देगे | ये कहा जाता है की ताजमहल बनाने के बाद शाहजहाँ ने ये ऐलान करवाया था की जितने मजदूरो ने ये ताजमहल बनवाया है उन सब के हाथ काट दिये जाये ताकि भविष्य मे दोबारा ऐसी कोई खूबसूरत इमारत नहीं बन सके| हालांकि इस बात की अभी तक कोई पुष्टि नहीं हो पायी है जिस वजह से बहुत से लोग आज भी इस बात पर संदेह करते है| ताजमहल की बनावट ऐसी है जिसे खास आधार की जरूरत थी और उस खास आधार को ऐसी लकड़ी से बनाया गया जो पानी मिलने पर मजबूत बनी रहती है वह लकड़ी ताजमहल की नीव को पक्का करती है और उस लकड़ी को पक्का करता हे यमुना नदी का पानी|

Taj Mahal Unknown Facts In Hindi

यह अद्भुत सफेद संगमरमर का ताजमहल लाल पत्थर की दीवारो से तीन तरफ से घिरा है इसको बनाने मे 28 तरह के कीमती पत्थरों का इस्तेमाल किया गया जिनको देखने पर आँख भी चौंधिया जाती है|ताजमहल बनाने मे जिस पत्थर का इस्तेमाल हुआ उसे मुख्यतः चीन,तिब्बत,श्रीलंका, लाया गया था|

इन बेश कीमती पत्थरो को अंग्रेज ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान उखाड़ कर अपने साथ ले गये थे| सबसे खास बात तो ये है की ताजमहल के सभी फव्वारे एक साथ काम करते है जब की इसमे आधुनिक शैली की कोई भी तकनीक का उपयोग नहीं हुआ है बल्कि उस टाइम इसके नीचे एक विशाल तांबे का टैंक लगया गया था जिस मे पानी भी एक साथ भरता है और फव्वारे भी एक सात काम करते है|

क्या आप ने इस बात पर गौर किया है की ताजमहल का रंग बदलता रहता है अगर आप इसे सुबह के टाइम देखेंगे तो यह आपको हल्‍का गुलाबी दिखेगा और अगर आप शाम के टाइम इसे देखेंगे तो दूधिया रंग का दिखेगा और चांदनी रात में अगर आप इसे देखते है तो एक दम सफ़ेद दिखेगा | क्या आपको पता है ताजमहल विश्व की सबसे ज्यादा देखी जाने वाली इमारत में से एक है जिसको देखने के लिए देश विदेश से सैलानी आते रहते है |