8 घंटे की नींद लेना क्यों जरूरी ? | Benefits For Sleeping On Time In Hindi

8 घंटे की नींद लेना क्यों जरूरी ? | Benefits For Sleeping On Time In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-4 years ago
+

अच्छी नींद लेना यानी पुरा दिन बिना आलस सफूर्ति के साथ गुजरना। सोना व सही तरीके से सोना इसमें काफी अंतर है। यदि रात को समय पर सोने के बाद हम सुबह जल्दी समय पर उठते है तो यह दिन हमारे लिए अलग ताजगी व आलस्य को दूर भगाने वाला होता है। समय पर सोने की सलाह डॉक्टर्स के साथ हमने कई किताबों में दी गई है ।

दुनिया के सबसे ज्यादा अमीर लोगो की लिस्ट में टॉप पर आने वाले अमेजन कंपनी के फांउडर जेफ बेजोस, एक समय कंम्यूटर प्रोग्रामर का काम करते थें। तब वो अपने साथ स्लीपिंग बैग लेना नही भूलते थें। ऐसा इसलिए की वो चाहते थे की उनकी 8 घंटे की नींद अधूरी न रहें। बेजोस के अनुसार 8 घंटे की नींद उनके स्टॉकहोल्डर को मजबूत परिणाम के रुप में सामने आती थी।

आज भी है नींद से दूरी ?

Benefits For Sleeping On Time In HindiSource polyclinic.com

जी नही बस यह शब्दों तक ही सीमित रह गया है। आज लोगो में नींद को लेकर अलग परिणाम देखने को मिल रहें है। सोशल मीडिया पर घंटो व्यस्त रहने वाले लोग भी आज जल्दी सोने व सुबह जल्दी उठने पर ध्यान दे रहें है। आपके जीवन में आपने ऐसे कई दोस्तो को देखा जो एक समय सारणी के साथ रात को जल्दी सोते है और सुबह समय पर उठ जाते है।

पूरी नींद लेने के क्या फायदें ?

यदि आप समय पर सोते है व अपनी 8 घंटे की नींद को पूरा करते है तो इसके आपके शरीर पर कई बेहतर परिणाम देखने को मिलेगे। यदि आप समय पर सो कर उठते है तो सबसे पहला असर आपको आपके चेहरे व बालो पर नजर आएगा। आपकी आंखो के नीचें होने वाले डार्क सर्कल भी गायब हो जाएगें व सिर दर्द से भी राहत मिलेगी।

Benefits For Sleeping On Time In Hindiimage source

पूरी नींद हमारे शरीर के लिए काफी जरुरी है। लेकिन आज की भाग-दौड़ भरी लाईफ में हम इतने व्यस्त हो गए है कि हमें ध्यान ही नही रहता है की हम कब उठ रहें कब सो रहें है। हर दिन 8 घंटे की नींद आपको कई बीमारीयों से दूर रख सकती है। इसलिए सब चीजों में बदलाव करते हुए हर नींद को पूरा समय दें।

पूरी नींद नहीं लेने के नुकसान ?

जब आप काम के तनाव में या और किसी चीज की चिंता में आप नींद पूरी नहीं ले पता है तो आपकी हेल्थ पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है जैसे की आँखे बहुत कमजोर व सर के बाल टूटना शुरू हो जाते है। 

  • छोटी छोटी बातो पर गुस्सा आने लगता है। 
  • धीरे धीरे चेहरे की चमक गायब हो जाती है। 
  • दिल की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • सर दर्द का होना।
  • स्टॉक का खतरा बढ़ जाता है।
  • भूख ज्यादा लगने लग जाती है जिससे आपके मोटापे पर असर पड़ता है।
  • डायबिटीज की आशंका हो सकती है।
  • हमेशा दिमाग पर तनाव , गुस्सा व डिप्रेशन रहेगा।
  • ब्रैस्ट कैंसर की आशंका बढ़ जाती है।

नींद पूरी नहीं होने पर आपकी निर्णय लेने की क्षमता भी कमजोर पड़ जाती है।

इस तकनीकी दुनिया में व्यक्ति की दिनचर्या पूरी तरह से बदल गई है पुरे दिन काम का तनाव , रात को बेचैन की नींद और पूरी रात घंटो तक करवट बदल बदल कर नींद लेना।  यह सब चीजे टाइम से नींद नहीं लेने के कारण होती है।

हमारा जीवन में जितना हिस्सा खाने पीना व व्यायाम का होता है उतना ही रोल नींद का भी होता है स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने के लिए एक व्यक्ति को कम से कम 8 घंटे की नींद लेनी ही चाइये जिससे आपकी हेल्थ पर किसी प्रकार का रोग उत्पन्न ना हो पाए।  

गुस्सा , तनाव और डिप्रेशन

जब आप पूरी तरह से नींद नहीं ले पाते हो तो आपके दिमाग को आराम नहीं मिल पता है इस कारण से आपका दिमाग पुरे दिन चलता रहता है कभी फालतू बातो में तो कभी चीजों को बड़ा चढ़ा कर सोचने में। ऐसे में आप हमेशा तनाव में या गुस्से में रहते हो जिससे आपके कोई भी निर्णय उचित नहीं हो पाते है व कोई भी काम ठीक से नहीं हो पाते है।

Source

हार्मोनल समस्याओं की सभांवना

महिलाओ में  थायरॉयड, पीसीओडी जैसी हार्मोनल समस्याओं की सभांवना तेजी से बढ़ रही है इसकी सबसे बड़ी समस्या तनाव है।  नींद पूरी नहीं होने की वजह से तनाव ज्यादा बढ़ता है नींद की वजह से हार्मोन असंतुलित हो जाते है और कई बीमारियों का रूप धारण कर लेते है जैसे की चिड़चिड़ा पन, पीरियड्स की परेशानी , मोटापे व बहुत प्रकार की बीमारियां नींद की कमी से हो जाती है।

दिल की सेहत पर असर

सही तरह से नींद नहीं लेने पर शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट प्रभावित होता है। बॉडी में इसकी वजह से चर्बी , हाई बीपी, डायबिटीज, दिल के संबन्धी परेशानियां बढ़ने लग जाती है।

नींद की कमी से इम्यून सिस्टम होता है कमजोर

नींद पूरी न होने की वजह से हमारा रोग प्रतिरोधक तंत्र प्रभावित होता है इससे इम्यून सिस्टम कमजोर पड़ता है। इम्युनिटी कमजोर हो तो व्यक्ति में खासी, जुकाम, भुखार व  इंन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है।

महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर का होना

महिलाओं की नींद पूरी ना होने की वजह से बॉडी में बहुत कोशिकाओं को नुकसान पहुंचने की आशंका हो जाती है इसी कारण की वजह से महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर होने का खतरा होता है।

Read More - नींद के बारे में 40 रोचक तथ्य

8 घंटे की नींद लेना क्यों जरूरी ? | Benefits For Sleeping On Time In Hindi