×

गूगल Co-Founder लैरी पेज और Google के सफर की पूरी कहानी | Larry Page Success Story In Hindi

गूगल  Co-Founder लैरी पेज और Google के सफर की पूरी कहानी | Larry Page Success Story In Hindi

In : Meri kalam se By storytimes About :-6 months ago
+

नमस्कार दोस्तों आज पूरी दुनिया इंटरनेट से जुड़ी हुई है और दुनिया के सभी देश अपने छोटे से लेकर बड़े सभी कार्य इंटरनेट के बिना नामुमकिन समझते है और जब इंटरनेट की बात आती है तब गूगल को कौन भूल सकता है जो आज दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है आज हम बात करने वाले है गूगल के को - फाउंडर लैरी पेज की जिन्होंने सर्गी ब्रिन के साथ मिल कर गूगल जैसा इंटरनेट का टॉप सर्च इंजन बनाया दोस्तों लैरी पेज सर्गी ब्रिन की खोज ने दुनिया को कितना आसान कर दिया ये हम सभी जानते है आज गूगल अपनी उपलब्धियों के चलते दुनिया की सबसे सफल कंपनी है और यही कारण है की गूगल के को-फाउंडर आज दुनिया के सबसे सफल व्यवसायी के रूप में जाने जाते है तो चलिए दोस्तों जानते है की गूगल और लैरी पेज का ये सफर कैसा था.

दोस्तों लैरी पेज का जन्म 26 मार्च 1973 में अमेरिका के मिशिगन शहर में हुआ था लैरी के पिता का नाम कार्ल विक्टर पेज और माता का नाम ग्लोरिया लैरी पेज में माता पिता  मिशिगन शहर की यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर थे लैरी पेज ने बताया की उनके माता पिता कंप्यूटर साइंस से जुड़े होने के कारण उनके घर के हर कोने में कंप्यूटर साइंस से जुड़ी कई गैजेट पड़ी हुई रहती थी और बचपन से ऐसे माहौल में रहने के बाद लैरी की कंप्यूटर के प्रति रूचि काफी ज्यादा हो गई थी और वो हमेशा कुछ ना कुछ अलग करते थे वो किसी भी चीज को खोल कर ये समझना चाहते थे की ये आखिर काम कैसे करती है लैरी ने एक इंटरव्यू में बताया की मुझे बचपन में ही महसूस हो गया था की मेरे अंदर कुछ अलग करने का एक्सपेरिमेंट घुसा हुआ है और जब मेरी उम्र 12 साल हुई तब मेने सोच लिया की मुझे एक बिजनेसमैन बनना है और इसी सोच के साथ में दुनिया के बिजनेस वर्ल्ड के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने लगा

Source images.gawker.com

लैरी पेज ने अपनी शुरुआती शिक्षा ओके मास मोंटेसरी स्कूल से पूर्ण हुई स्कूली शिक्षा पूर्ण होने के बाद लैरी ने साल 1979 में ईस्ट लांसिंग हाई स्कूल से अपनी ग्रेजुऐशन की शिक्षा पूर्ण की बाद में उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से अपनी पोस्ट ग्रेजुऐशन की शिक्षा ली और इसी कॉलेज से PHD करने लग गए और तब इस दौरान उनकी मुलाकात हुई वर्तमान में गूगल के को फाउंडर  सर्गी ब्रिन से दोनों ने अपनी PHD की डिग्री में वर्ल्ड वाइड वेब के विषय को चुना तब वो इसे अल्गोरिथम की खोज में लग गए जो सभी वेबसाइट को एक स्थान पर जोड़ सके और उन साइट्स के आधार पर उन्हें एक रैंक प्रदान की जा सकें इस विषय पर दोनों ने मिल कर काफी मेहनत की और करीब चार साल बाद सितंबर 1996 में  उन्होंने ऐसे अल्गोरिथम की खोज कर ली जो सभी वेबसाइट को एक प्लेटफार्म पर ला सकें दोस्तों गूगल शब्द गणित के GO Go से लिया गया जिसका मतलब होता है एक अंक के आगे 100 शून्य और दोस्तों जब गूगल को पहली पर लॉंच किया गया था वो वेबसाइट उनकी यूनिवर्सिटी स्टैनफोर्ड के पेज पर मौजूद है

बाद में इन दोनों ने मिल कर अपने रिश्तेदार दोस्तों सभी और बड़े इन्वेस्टर से करीब 10 लाख डॉलर का कर्ज ले कर साल 1998 में दोनों ने Google, Inc की स्थापना की गूगल अपनी यूनिक कन्सेफ्ट और शानदार अल्गोरिथम की वजह से कम समय में ही दुनिया का फ़ेमस सर्च इंजन बन गया और 

Source images.techhive.com

अपनी इस सफलता के बाद लैरी और सर्गी ब्रिन ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा तब साल 2004 में गूगल का IPO शेयर मार्केट में पेश किया गया तब मार्केट में लोगो ने इस पर काफी खूब पैसा इन्वेस्ट किया और इसी तरह एक एक कदम सफल होते होते गूगल दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गई साथ ही लैरी और सर्गी ब्रिन दुनिया के सबसे यंग बिलीनर बन गए 14 नवंबर 2006 को गूगल ने उस समय की सबसे बड़ी विडियो लाइब्रेरी कंपनी You Tube को खरीद लिया साथ ही गूगल ने 30 अप्रेल 2009 को पहली बार अपना एंड्राइड सिस्टम लॉंच किया

Source secure.i.telegraph.co.uk

जो आज दुनिया के सभी स्मार्टफोन पर छाया हुआ है आज गूगल के पास गूगल अकाउंट गूगल मैप जीमेल गूगल ड्राइव गूगल शपिंग गूगल फोटोज गूगल कॉन्टेक्ट जैसे कई प्रोडक्ट आज गूगल के पास मौजूद है गूगल का हेड ऑफिस माउंटेन व्यू, कैलिफोर्निया, अमेरिका में मौजूद है और दोस्तों आज हम दुनिया के सबसे धनी लोगो की लिस्ट उठाये तो लैरी पेज का नंबर 12 है साथ ही बिजनेस के साथ हम उनके निजी जीवन के बारे में चर्चा करे तो उन्होंने 8 दिसंबर 2007 लुसिंडा साउथवर्थ से विवाह किया था लुसिंडा साउथवर्थ एक रिसर्च साइंटिस्ट है इन दोनों के दो बच्चे है दोस्तों हम सफलता की इस प्रेरणादायक दायक कहानी के पीछे लैरी पेज और सर्गी ब्रिन को वो मेहनत ही है जिसके कारण आज लोग इंटरनेट की शुरुआत सीधे गूगल से ही करते है दोस्तों इंटरनेट की दुनिया इन दोनों के योगदान को कभी नहीं भूल सकती.

Read More - इंटरनेट की 5 अमेजिंग वेबसाइट जो आप अब तक कर रहे थे मिस